17 साल की मालविका ने इतिहास रच पाया एमआईटी में दाखिला

साभार:द हिन्दू
साभार: द हिन्दू

17 साल की मालविका राज जोशी ने अपनी योग्यता के दम पर अमेरिका के प्रतिष्ठित मेसाचुसेट्स तकनीकी संस्थान (एमआईटी) में दाखिला पा लिया है।
चौंकाने वाली बात यह है कि मालविका के पास 10वीं और 12वीं के प्रमाण पत्र ही नहीं हैं। दरअसल, मालविका की असल योग्यता कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में है जिसकी बदौलत उन्हें अमेरिका के प्रतिष्ठित मेसाचुसेट्स तकनीकी संस्थान (एमआईटी) में दाखिला मिला है मालविका दादर पारसी यूथ एसेंबली स्कूल में सातवीं की छात्रा थीं और बेहतर पढ़ाई कर रही थीं पर उनकी मां ने मालविका को स्कूल से बाहर निकालने का फैसला लिया और कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के लिए भेजा।
मालविका कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में बहुत होशियार हैं और उन्हें यह विषय बहुत पसंद है। मुंबई की इस छात्रा को एमआईटी से विज्ञान में स्नातक की पढ़ाई के लिए छात्रवृत्ति मिली है। वह कई प्रतियोगितओं में पदक भी हासिल कर चुकी हैं।
अमेरिका के प्रतिष्ठित मेसाचुसेट्स तकनीकी संस्थान में एक नियम है कि वह विभिन्न विषयों जैसे- गणित, भौतिकी या कंप्यूटर में मेडल जीतने वाले विद्यार्थियों को अपने यहां दाखिला देता है और इसी वजह से मालविका को यहाँ दाखिला मिल गया है।