10 हज़ार रुपये ने ली चित्रकूट ज़िले के कर्वी की सुनंदा की जान

जिला चित्रकूट, कस्बा कर्वी, 12 दिसम्बर 2017। कर्वी में रहने वाली 35 वर्षीय सुनंदा की आग लगने से मौत हो गई है। मायके वालों का आरोप हैं कि सुनंदा के पति राम किशोर ने उस पर आग लगाई है, जबकि वह कह रहे है कि आग सुनंदा ने खुद लगाई। सुनंदा पिछले 15 साल से अपने ससुराल से अलग रहती थी,पर उसका पति राम किशोर कभी-कभी उसके घर आता-जाता था। राम किशोर शराब और जुआ खेलने का आदी है और सुनंदा से अक्सर पैसे की मांग करता रहता था। सुनंदा की मौत से पहले भी उस दिन ही उसके बैंक खाते से 30 हजार रुपये निकाले गए थे। हालांकि कर्वी पुलिस का कहना हैं कि सुनंदा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद देखेंगे कि सुनंदा की हत्या हुई है या नहीं।

ससुराल से अलग रहने वाली सुनंदा घरों में झाडू-पोंछा करके अपने तीन बेटों का भरण-पोषण करती थी। सुनंदा के पति राम किशोर का कहना हैं, “जिस दिन सुनंदा ने आग लगाई थी, उस दिन हम दोनों एक शादी में गए थे। शादी से लौटने के बाद मैं घर से कुछ जरुरी सामान लेने के लिए दुकान तक गया। जब लौटकर आया तो देखा कि घर में आग लगी हुई थी। मैंने बचाने की कोशिश की थी, पर उसने मुझे धक्का देकर अलग कर दिया।”

सुनंदा के तीने बच्चे अपने नाना-नानी के साथ रहते हैं। सुनंदा के भाई जगन्नाथ का कहना हैं, “सुनंदा के पास 30 हजार रुपये थे और इन ही पैसों को लेकर उनका झगड़ा हुआ था। अब घर में न तो पैसे हैं और न उसका पहचान पत्र और राशन कार्ड।”

वहीं सुनंदा की मां बुधिया का कहना हैं, “मेरी बेटी को करीब 10 से 11 बजे के बीच जलाया गया होगा। पर हमें तीन घण्टे बाद बताया। जब मेरी बेटी मर चुकी थी।”

अब सुनंदा के मायके वाले राम किशोर को कड़ी सजा देना चाहते हैं, जबकि राम किशोर अपने तीन बच्चों को अपने पास रखना चाहता है।

रिपोर्टर- नाजनी

Published on Jan 10, 2017