हैदरगढ़़ में नलकूप नहीं, किसान चन्दा इकट्ठा करके करा रहे हैं नहर की सफाई

जिला बाराबंकी, तहसील हैदरगढ़, ग्रामसभा बड़ा कनवा। सिचाई बिभाग किसानन कै नाय सुनिस समस्या तौ चंदा लगाइके किसान शुरू कराईन नहर कै सफाई।
लखन गौतम किसान कै कहब बाय की नहर डेढ़ फुट गहरी अउर डेढ़ किलोमीटर लम्बी बाय। तीसरी बार खुद से सफाई करावत हई। सुन्दर किसान कै कहब बाय की तीन गाँव गाँव कै मनई चंदा लगाये हई। यही समय धान सूख के पैरा होइगा बाय।
मनोज कुमार सिंह चौहान बताइन की केवल नहर के वजह से हमरे सबकै फसल सूखत बाय अगर ई साफ हुवत तौ ई दिन न देखै का परत। चार गाँव कै इंसान मरते न। पन्द्रह बीस दिन से विभाग कै चक्कर लगावत हई लकिन केहू सुनै वाला नाय बाय। धान के फसल मा बाली नाय निकर पावत बाय सब सूखगा। विकास चन्द्र बताइन की अप्लिकेशन लइके जाय तौ कौनौ सुनवाई नाय हुवत। आनाकानी की जाती है।
जी.सी.सी. सिचाई अधिकारी कै कहब बाय कि जउने तरह से हमै मिलाथै वही तरह से हम नहर का पानी दीथी। अगर कम रहाथै तौ कम दीथी। नहर के सफाई के ताई अबहीं बजट नाय आय बाय।
प्रकास सिंह अधिशाषी अभियंता नहर विभाग बताइन कि जउने  ग्रामसभा मा नलकूप नाय लाग बाय वहिके सांसद द्वारा लिखके भेजा जाथै फिर साइड पै जायके जाँच कीन जाथै। फिर रिपोर्ट डीएम के यहाँ भेजी जाथै। जहाँ नहर या झील रहाथै वहीं नलकूप कै सुबिधा नाय दीन जात। अगर ऊपर से आदेश आवाथै तबै सुबिधा दीन जाथै।

बाईलाइन-नसरीन 

26/09/2017 को प्रकाशित