हैण्डपम्प अउर हैण्डपम्प मा चरही बनैं के मांग

हफ्ता भर से है खराब, पियासे गुजरत यात्री
हफ्ता भर से है खराब, पियासे गुजरत यात्री

जिला बांदा, ब्लाक बडोखर खुर्द, कस्बा भूरागढ़। हेंया सड़क किनारे एक हैण्डपम्प है। वा हैण्डपम्प हर साल गर्मी अउतै खराब होई जात है। यहिसे पानी खातिर परेशान रहत है।
कस्बा के चुन्नी अउर गीता बतावत हैं कि या हैण्डपम्प से पचास घरन के मड़इन का निस्तार होत है। साथै सैकडन यात्री या हैण्डपम्प से पानी पियत है। काहे से या बांदा से महोबा जाय वाली मेन सड़क आय। पूर दिन या सड़क से मड़ई गुजरत है। राजकुमार कहत है कि हैण्डपम्प तौ एक महीना से खराब ही है, पै सप्लाई वाला पानी भी नहीं आवत आय। अगर दुसरे मोहल्ला पानी भरैं जात हन, तौ घंटन लाइन लगाये ठाड रहैं का परत है। प्रधान से भी एक हफ्ता पहिले हैण्डपम्प बनवावैं का कहा गा, पै कउनौ सुनाई निहाय। प्रधान रामकिशुन का कहब है कि वा हैण्डपम्प का कइयौ दरकी बनवा चुके हौं। अगर फेर खराब है, तौ मिस्त्री का बुला के बनवा देहूं।
नरैनी ब्लाक के कस्बा दुबरिया मोहल्ला निजामी नगर के रज्जन अली, पासमा अउर ममता बतवत हैं कि हमरे हेंया का हैण्डपम्प पन्द्रह साल पहिले लाग रहै। चरही आज तक नहीं बनी आय। या मारे रास्ता मा पानी भर जात है। यहिसे हम चरही बनैं के मांग लइके नरैनी बी.डी.ओ. का दरखास दीन है। काहे से रास्ता मा कदौं होय के कारन बहुतै मच्छर लागत हैं। प्रधान चन्द्रकली का मनसवा भरतलाल कहिस कि मैं खुदै चार साल से चरही बनवावैं खातिर परेशान हौं अब बजट पास होई गा है तौ चरही बनवा देहूं।