हाईकोर्ट का आदेश खतरा मा नौकरी

w b taja sichmitar photoजिला बांदा। सहायक मास्टर बनैं के उम्मीद छीनै मा शिक्षा मित्रन के बीच सरकार के खिलाफ गुस्सा है। 14 अउर 15 सितंबर का लगभग डेढ़ सौ शिक्षा मित्र डी.एम. अउर बी.एस.ए. का ज्ञापन दिहिन हैं। साथै आन्दोलन अउर रैली निकाल के विरोध प्रदर्शन करत हैं।
आन्दोलन के अगुवाई शिक्षा मित्र संगठन के नेता दिनकर अवस्थी अउर मूलचन्द्र अउर प्रधानमंत्री बतावैं कि हम कहां दोषी हन। आज दसन साल से सिर्फ 3500 वेतन पर मेहनत करत शिक्षामित्र के पढ़ाये बच्चा हाईस्कूल इण्टर अउर बी.ए करत हैं। का उनके पढ़ाई का सरकार रद्द कई देई। जेहिके सजा शिक्षा मित्रन का दीन जात है। जबै तक हमार मामला मा उचित कारवाही न होई तबै तक हम कार्य बहिष्कार कइके आन्दोलन करबे। कउनौ भी शिक्षक के तैनाती स्कूल मा न होय देब। साथे अपील भी करिन कि कउनौ भी शिक्षा मित्र आत्महत्या न करैं। उम्मीद है कि हमार लड़ाई रंग लई। बी.एस.ए. ओम प्रकाश त्रिपाठी कहिन कि या सरकार का आदेश है शिक्षा मित्रन का स्कूल मा ताला न डारै का चाही। कानून का अपने हाथ मा न लें का चाही।