हर जगह हुअत भ्रस्टाचार

m gao se sadakउत्तर प्रदेष के हर जिला मा हर काम मा घोटाला हुअत बाय। जइसै कि देखा जाए कि गावं से लइके कस्बा होय या षहर सब जगह घोटाला कै भर मार बाय। सड़क बनै का होत तौ ठेकेदार लोग करोड़ो रुपया कै ठेका लइै लेथिन अउर घटिया अउर कम सामान लगवाई कै काम पूरा देखाए देथिन।
सड़क बने तौ गिट्टी डामर कम डाला जाए अउर कागज मा पूरा गुणवत्ता देखाए देथिन। आर.सी.सी. रोड बने तौ सीमेन्ट मोरंग गिट्टी के जगह बालू कै मात्रा ज्यादा कई देथिन। पीला ईंटा कै प्रयोग कराथिन। सरकारी भवन आवास या पंचायत भवन बनै का होय तौ पीला ईंटा अउर बालू से जोड़ाइया कराय देथिन। साल दुई बीतै नाय पावत दीवाल उजरै लागाथै। पानी टपकै लागाथै। सड़क तौ एक ही साल मा गिट्टी उजरी कै किनारे होई जाथै। सरकारी कर्मचारी से जब षिकायत किया जाथै। तौ कहिहै जांच करावा जाए। तभौ केहू देखै तक नाय आवत। ऐसन ठेकेदार मनमानी तरीका से आधा-अधूरा काम करावथिन।
जइसै कि देखा जाय तौ अम्बेडकर नगर जिला के कटेहरी ब्लाक के गौरा वसन्तपुर
गावं मा घटिया किस्म कै ईटा आय से गांव वाले नाराज भइन। वही दुसरी तरफ फैजाबाद जिला के मया ब्लाक के लाला के पुरवा कै सड़क कै गिट्टी सब सड़क के किनारे होई गै बाय। एक सड़क कै बात नाय बाय। जिला के एकाध सड़क छोड़ी कै सब सड़क कै यही हाल बाय। यह पै षासन प्रषासन ध्यान काहे नाय दियत? अगर ध्यान देत तौ यतना भ्रस्टाचारी न हुअत। हिंआ ग्राम प्रधान से लईकै जिला स्तर तक जेतना विकास करावै वाले मनई हईन सब ध्यान काहे नाय देतिन?