हर काम के लिए इस सड़क से जाना होता है, अम्बेडकरनगर के ऐसी सड़क पर कौन सा साधन चलेगा?

जिला अम्बेडकरनगर, ब्लाक भीटी, गांव मिझौड़ा हिंया भीटी से मिझौड़ा जाय वाली सड़क लगभग तीन किलोमीटर लम्बी सड़क पांच साल से टूटी बाय। जेहपै राहगीर कै चलब मुश्किल भा बाय। सड़क मा अनगिनत गढ़हा दुर्घटना कै दावत दियत अहैं।जिला अम्बेडकरनगर, ब्लाक भीटी, गांव मिझौड़ा हिंया भीटी से मिझौड़ा जाय वाली सड़क लगभग तीन किलोमीटर लम्बी सड़क पांच साल से टूटी बाय। जेहपै राहगीर कै चलब मुश्किल भा बाय। सड़क मा अनगिनत गढ़हा दुर्घटना कै दावत दियत अहैं। करुणाकर तिवारी कै कहब बाय कि ढाई किलोमीटर सड़क कै मामला आय येहपै केहू कै नजर नाय परत बाय। रास्ता यतना दुर्लभ होइगा बाय की आवै जाय मा कठिनाई हुवत बाय। जबकि एहिसे दुई दुई तीन तीन मंत्री भी बन चुका अहैं कइव बार।  जैसे आवै जाय का अगर सूखा कै समय बाय तौ कउनौ तरह चला जाथै लकिन बरसात मा गड्ढा मा पानी भरि जाथै जेसे काफी कठिनाई हुआथै। दुर्गावती कै खहब बाय कि एक बार आय रहा बनै के ताई लकिन पता चला की कैंसिल होय गय सिर्फ गिट्टी डाल के चला गईन।  होमियोपैथिक अस्पताल, गैस एजेंसी अउर पोस्ट आफिस का जाय वाली इहै एक सड़क बाय।मनई कई बार मांग भी करिन कइव विधायक आये अउर चले भी गये लकिन केहू नाय सुनिस। देवेन्द्र तिवारी कै कहब बाय कि सूचना पी डब्लू डी विभाग मा दीन गए लकिन अबही तक नाय बनी।  सतेन्द्र जे.ई पी. डब्लू डी विभाग कै कहब बाय कि सरकार कै जवन आदेश बाय सारी सड़क गड्ढा मुक्त होये।सड़क कै पूरी लिस्ट बनीं बाय। अबही तौ जवन आय बाय वकै पन्द्रह जून तक कै समय बाय। बाकी जवन आवै का बाय वहमा थोड़ा समय लागे। गड्ढा मा गिट्टी भरवाय के वक्रे बाद तारकोल अउर सारा मसाला डाल के प्रक्रिया पूरी कै जाये।

रिपोर्टर- प्रियंका

13/06/2017 को प्रकाशित