हरियाणा सरकार नाबालिग बच्चियों के साथ बढ़ती बलात्कार की घटनाओं पर सजा सख्त करेगी!

साभार: विकिपीडिया

प्रदेश में लगातार बच्चियों से हो रही दरिंदगी की घटनाओं को लेकर राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने 18 जनवरी को डीजीपी बीएस संधु को राजभवन में तलब किया। करीब एक घंटे तक कानून-व्यवस्था और अन्य मामलों पर बातचीत के बाद डीजीपी ने कहा है कि 15 साल तक की बच्चियों से दुष्कर्म के मामलों में सजा के प्रावधान सख्त हों, इस बारे में सरकार को जल्द प्रस्ताव भिजवाया जाएगा। महिलाओं से संबंधित अपराधों की जल्द सुनवाई के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट खोले जाने की सिफारिश की जाएगी। ऐसे में मध्य प्रदेश की तर्ज पर नाबालिग लड़कियों से दुष्कर्म मामलों में केंद्र से फांसी की सजा के प्रावधान की सिफारिश की जा सकती है। एडीजीपी आरसी मिश्रा के बयान पर नाराजगी जताते हुए राज्यपाल ने डीजीपी से जवाब मांगा कि जिम्मेदार अधिकारी इस तरह का बयान क्यों दे रहे हैं। बता दें कि पिछले कुछ दिनों में ही तेज़ी से बलात्कार की घटनाएँ सामने आई हैं. फर्रुखनगर में बीए सेकंड ईयर की छात्रा से दो युवकों ने दुष्कर्म किया। खेड़ा खुर्रमपुर निवासी आरोपी पवन को गिरफ्तार कर लिया है। उसका साथी फरार है। छात्रा हेलीमंडी से दांतों में कैप लगवाकर लौट रही थी। पवन साथी के साथ पहुंचा और कॉलेज छोड़ने के बहाने कार में बैठाकर जंगल में ले गए व दुष्कर्म किया 12वीं में पढ़ने वाली 17 वर्षीय छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म की घटना सामने आई है। पुलिस ने 4 युवकों के खिलाफ केस दर्ज किया है। एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। घटना चरखी दादरी के गांव मानकावास की है।