हम भी एक नया घर बनाएंगे

Chitra mano (2)जि़ला चित्रकूट, ब्लाॅक कर्वी शिवरामपुर। पहले जैसे-जैसे दीपावली का त्यौहार नज़दीक आता था लोगों के घरों के पास छोटा सा एक मिट्टी का घर दिखता था वक्त के साथ सब बदल रहा है लेकिन अभी भी कुछ जगह ऐसा है जहाँ लोग पुरानी यादों को समेटे हुए  हैं ।
ऐसे कुछ लोगों में एक  हैं कश्मीरी नाम की लड़की। इनका कहना है कि हम आदिवासी मारवाड़ी जाति के हैं। दीपावली में पूजा करने के लिए छोटा मकान बनाते हैं। यह मकान मिट्टी से बनाते  हैं फिर उसको कई रंगो से रंगते हैं। यह देखने में बहुत सुंदर लगता है।
ऐसा नहीं है कि ये सिर्फ कश्मीरी ही बनाती हैं गांव में ऐसी बहुत सी लड़कियां दीपावली पर अपने छोटे से घर को बड़े प्यार से बनाती हैं और दीपावली के दिन दिया जलाती हैं।