स्वच्छ सर्वेक्षण-2017 सूची में यूपी सबसे नीचे

शहरी विकास मंत्री एम वेंकैया नायडू ने ‘स्वच्छ सर्वेक्षण-2017’ के बारे में घोषणा करते हुए कहा कि 434 शहरों में इंदौर देश का सबसे स्वच्छ शहर है और भोपाल इस सूची में दूसरे नंबर पर है। इस सर्वेक्षण के अनुसार, इस सूची में यूपी का शहर गोंडा सबसे अस्वच्छ शहर है और महाराष्ट्र का भुसावल दूसरा सबसे अस्वच्छ शहर है।
शीर्ष 50 स्वच्छ शहरों में गुजरात के सर्वाधिक 12 शहर शामिल हैं। इसके बाद मध्यप्रदेश के 11 और आंध्र प्रदेश के आठ शहर शीर्ष 50 स्वच्छ शहरों में शामिल हैं।
स्वच्छता क्रम में सबसे अंतिम स्थान पर रहे 50 शहरों में से आधे शहर उत्तर प्रदेश के हैं।
देश के 434 शहरों और नगरों में कराए गए स्वच्छता सर्वेक्षण के अनुसार, इसमें हिस्सा लेने वाले 83 फीसदी से अधिक लोगों ने बताया कि उनका इलाके में पिछले साल के मुकाबले ज्यादा साफ-सफाई देखने को मिली है।
स्वच्छता सर्वेक्षण 2017 के अनुसार, 82% से ज्यादा नागरिकों ने स्वच्छता बुनियादी ढांचा और अधिक कूड़ेदान की उपलब्धता के अलावा घर-घर जाकर कूड़ा इकट्ठा करने जैसी सेवाओं में सुधार पर बात की, जबकि 80% लोगों ने सामुदायिक और सार्वजनिक शौचालयों तक बेहतर पहुंच बनाए जाने पर जोर दिया। इसमें यह भी कहा गया है कि 404 शहरों और कस्बों के 75 फीसदी आवासीय क्षेत्र में ज्यादा सफाई देखी गई। इसके साथ ही 185 शहरों में रेलवे स्टेशन के आसपास का पूरा इलाका स्वच्छ बताया गया है।
2014 में आरम्भ किये गये स्वच्छता मिशन का मकसद भारतीय शहरों को 2019 तक स्वच्छ सुंदर और खुले में शौच से मुक्त करना है। बता दें कि 2019 में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती है। इस नये खोज में दिल्ली के वीआईपी इलाकों में शुमार नयी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) का भी प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है। पिछले साल चौथे नंबर पर रहने वाला एनडीएमसी इस बार सातवें नंबर पर आ गया है। दिल्ली के बाकी इलाके भी इस लिस्ट में कोई खास छाप नहीं छोड़ सके हैं। दिल्ली में सेना के जवानों के लिए बनाई गयी बस्ती दिल्ली कैंटोमेंट का नंबर 172 है तो पूर्वी, दक्षिणी और उत्तरी दिल्ली नगर निगम क्रमश: 196, 202, और 279 नंबर पर हैं
केंद्र सरकार के ‘स्वच्छ सर्वेक्षण 2017’ में देश में इंदौर के पहला स्थान पाने से उत्साहित स्थानीय महापौर मालिनी गौड़ ने आज कहा कि शहर में साफ।सफाई की मुहिम को आगे भी नये आयाम दिये जायेंगे। मालिनी के स्थानीय कार्यालय से जारी बयान में शहर की प्रथम नागरिक के हवाले से कहा गया, ‘हम शहर की जनता के प्रति कृतज्ञ हैं जिसने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शुरू किये स्वच्छ भारत अभियान में पूरे उत्साह से सहभागिता कर हमें इस मुकाम तक पहुंचाया। हम इस अभियान को आगे भी नये आयाम देंगे।’

 फोटो और लेख साभार: इंडियास्पेंड