स्वच्छता अभियान कितना सफल जब सफाई कर्मचारी वेतन से वंचित?

जिला चित्रकूट, ब्लाक रामनगर, कस्बा राजापुर स्वच्छता अभियान के तहत हिंया सफाई कर्मचारिन  के भर्ती कीन गे रहै पै इं सफाई कर्मचारिन  का तीन महीना से वेतन नहीं मिला आय जेहिसे घर का खर्चा भी नहीं चल पावत आय अउर सफाई कर्मचारी कर्जा लइ के आपन खर्चा चलावत हवै।जिला चित्रकूट, ब्लाक रामनगर, कस्बा राजापुर स्वच्छता अभियान के तहत हिंया सफाई कर्मचारिन  के भर्ती कीन गे रहै पै इं सफाई कर्मचारिन  का तीन महीना से वेतन नहीं मिला आय जेहिसे घर का खर्चा भी नहीं चल पावत आय अउर सफाई कर्मचारी कर्जा लइ के आपन खर्चा चलावत हवै। जीतेंद्र अउर सोना का कहब हवै कि  हमें तीन महीना से वेतन नहीं मिला आय।कउनौतान कर्जा  लइ के आपन बच्चन का पेट पालिन हवै। विकास बताइस कि मैं 2014 से सफाई कर्मचारी का काम करत हौं पै अबै तक इनतान कत्तौ वेतन नहीं रुका आय। कामता प्रसाद अउर संतोष कुमार बताइन कि  नगर पंचायत का काम करित हवै तौ घर का काम करै तक का छुट्टी नहीं मिलत आय।पांच साल मा इनतान एकौ दरकी नहीं भा आय।कि वेतन रुक जायें पै नई सरकार के अउतेन वेतन रुक गे हवै। यहै कारन हम 10 हजार तक का कर्जा लइ चुके हन जबै वेतन मिली तबै कर्जा वापस  दीन जई। नगर पंचायत के ई.ओ बेनी प्रसाद गुप्ता  का कहब है कि हवै कि ठेकेदार सफाई कर्मचारिन  के काम  का हिसाब नहीं देत आय यहै कारन वेतन नहीं मिली आय। चेयरमैन लक्ष्मी प्रसाद का कहब हवै कि नगर पंचायत मा वेतन दे खातिर बहुतै  रुपिया  हवै पै ई.ओ.वेतन नहीं देत आय।

रिपोर्टर- सहोद्रा

11/07/2017 को प्रकाशित