स्कौटलैंड रहेगा इंग्लैंड के साथ

Saltire and union flagस्कौटलैंड। 18 सितम्बर 2014 को एक ऐतिहासिक जनमत में इंग्लैंड के पास स्थित स्कौटलैंड के अलग देश बनने पर आम जनता ने वोट डाले। 19 सितम्बर की जनता का फैसला था कि स्कौटलैंड अभी अलग देश नहीं बनेगा।
स्कौटलैंड तीन सौ सालों से इंग्लैंड और कुछ अन्य क्षेत्रों के साथ ‘ग्रेट ब्रिटेन’ का हिस्सा रहा है। इसके पहले कई सदियों तक स्कौटलैंड एक अलग स्वतंत्र देश था। 1970 से स्कौटलैंड में ग्रेट ब्रिटेन से अलग होने की बात हो रही थी। स्कौटलैंड में कई लोगों का मानना था कि उनकी सोच, संस्कृति और राजनीति इंग्लैंड से बहुत अलग है। 2014 में वहां की सरकार ने यह फैसला स्कौटलैंड की पचास लाख की आबादी पर छोड़ने का निर्णय लिया। कुल इकत्तीस लाख से ज़्यादा वोट पड़े जिनमें सत्रह लाख से ज़्यादा लोगों ने अलग होने के खिलाफ वोट डाला।