स्कूल के जर्जर बिल्डिंग

जिला चित्रकूट, ब्लाक मऊ, गांव हटवा का प्राथमिक स्कूल गिरै के हालत मा हवै। स्कूल के जर्जर बिल्डिग कत्तौ गिर सकत हवै, पै मजबूरी मा बच्चा पढ़त हवैं।
स्कूल मा पढ़ै वाले बच्चा गेंदालाल  अउर रानी का कहब हवै कि मजबूरी मा स्कूल पढ़ै जइत हन। काहे से कि बाप महतारी चिल्लात हवैं  कि स्कूल पढ़ै जा नहीं तौ मार खइहै।
स्कूल के हेडमास्टर सूर्यभान का कहब हवै कि लगभग पच्चीस साल पुराना स्कूल हवैं । स्कूल मा कुल तीन सौ पचास बच्चा हवै। स्कूल के बिल्डिंग कत्तौ भी गिर सकत हवै। स्कूल बनवावैं खातिर 19 नवम्बर का मऊ बी.आर.सी. विभाग अउर बेसिक शिक्षा विभाग मा लिखित दें के बादौ कउनौ ध्यान नहीं दीन जात हवै। यहै से नवम्बर 2014 का फेर से लिखित दीने हन, पै समस्या के समाधान खातिर कउनौ ध्यान नहीं देत।
मऊ बी.आर.सी. विभाग के समन्वयक मार्तण्ड शुक्ला का कहब हवै कि स्कूल बनवावैं खातिर अबै बजट नहीं आय। लिखित आई रहै, तौ बेसिक शिक्षा विभाग मा भेज दीन जात हवै। बेसिक शिक्षा विभाग के बाबू सत्येन्द्र सिंह का कहब हवै-“मार्च 2015 तक नवा बजट अई। तबहिने स्कूल के मरम्मत करवाई जा सकत हवैं।