स्कूली बच्चा के करंट से मउत

कमल के परिवार वाले रोवत बिलखत
कमल के परिवार वाले रोवत बिलखत

जिला चित्रकूट, ब्लाक पहाड़ी, गांव बक्टाबुजुर्ग। हिंया के प्राथमिक स्कूल मा शौचालय नहीं आय। यहै से कक्षा तीन मा पढ़ै वाला लड़का कमल 21 अक्टूबर 2014 खेत मा टट्टी पेशाब खातिर गा रहै। खेत मा लटकत बिजली के तार के चपेट मा आ गा अउर वहिके मउत होइग। महतारी बाप थाना मा दरखास दिहिन हवैं। मामला के जांच चलत हवै।
कमल के महतारीे तुलसा का कहब हवै कि सरकार स्कूल मा बच्चन का खेलैं खातिर मैदान, शौचालय जइसे के सुविधा दीने हवै, पै हिंया तौ कुछौ नहीं आय। स्कूल मा शौचालय के व्यवस्था होत तौ कमल के जान न जात। कमल टट्टी खातिर स्कूल से बाहर गा तौ बिजली के तार मा पैंट टांग दिहिस। यहै से करंट लाग गा अउर वा मरगा। यहिके सूचना पहाड़ी थाना मा दीन गे हवै।
पहाड़ी थाना के छोट दरोगा सियाराम कहिस कि सूचना मिली हवै। परिवार वाले रपट लिखइहैं तौ मास्टर के ऊपर मुकदमा लागी।
प्राथमिक सकूल के शिक्षा मित्र उर्मिला देवी का कहब हवै कि वा दिन मैं छुट्टी मा रहौं हेड मास्टर प्रभा सहाय स्कूल मा रहै। वहिका नौकरी से सस्पेंड कइ दीन गा हवै।

उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष अखिलेश कुमार पाण्डेय कहिन-” यहिमा हेड मास्टर प्रभा सहाय के कउनौ गलती नहीं आय। पहाड़ी प्राथमिक स्कूल भाग दो के हेडमास्टर रमेश सिंह अधिकारिन के सम्पर्क मा रहत हवै। शौचालय बनवावैं खातिर बक्टा बुजुर्ग के प्राथमिक स्कूल का पिछले साल सत्तर हजार रूपिया का बजट आवा वा रुपिया रमेश सिंह अउर ए.बी.एस. ए. के सांठ गांठ से उंई दूनौ आपस मा बन लिहिन अउर पुराने शौचालय के रंगाई पोताई करा दिहिन। घटना के बाद जबै अधिकारी जांच करैं गे तबै या मामला सउहें आवा। यहै से मास्टर से लइके ए.बी. एसे, बेसिक शिक्ष अधिकारी के जांच होय का चाही।”
बेसिक शिक्षा अधिकारी वी.के. सिंह कहिन कि बिजली का तार नीचे लटकत रहै। यहै से वा बच्चा मरा हवै। यहिमा बिजली विभाग के लापरवाही हवै।