सेहतमंद मां अउर बच्चा – सड़क पै जन्मा बच्चा

1-5-14 taza  khabar  tarunजिला फैजाबाद, ब्लाक तारुन, ग्रामसभा दांदूपुर, मजरा तिवारी का पुरवा। हिंआ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तारुन मा 17 अप्रैल 2014 की रात मा मुंह मांगा पैसा न दै पावै के कारण एक मेहरारू का प्रसव करावै से स्वास्थ्य कर्मी मना कै दिहिन। जेसे अर्चना अपने परिवार के साथ पैदल आवत रही। नहरी गांव के पास सड़क पै बच्चा पैदा भै। जरूरी दवा न मिलै के कारण गेदहरा कै मउत होइगै।
अर्चना कै सास चम्पा बताइन कि 17 अप्रैल 2014 का रात मा दुई बजे एम्बुलेन्स आषा कार्यकत्री सुषीला लाइन। लकिन गांव तक नाय आय। जबकि आवै का रास्ता घर तक बाय। लकिन आषा कार्यकत्री कहिन आय न पाये तौ एम्बुलेन्स तक लै गयन। अस्पताल पहुंचतै आषा कार्यकत्री मांगा पचास रुपया मांगाथिन । हुआ कै ए.एन.एम. दुर्गावती कहिन कि बच्चा उल्टा बाय जिला अस्पताल लै जा। कहिन अगर प्राइवेट अस्पताल लै जाबू तौ दस हजार लागे। हमैं तीन हजार दिया। बिना आपरेषन कै गेदहरा न होये। रिफर करे पै गाड़ी नाय दिहिन। पैदल सब तारुन आवत रहिन नहरी पुरवागांव के पास सड़क पै लड़का पैदा होयगै।गांव कै दुई चार मेहरारु आइन। थोड़ी के देर मा बच्चा खत्म होयगै। सूचना पायके विनीत विनायक अस्पताल कै डाक्टर भर्ती करिन।
ए.एन.एम. दुर्गावती अउर विकलेष पाण्डेय बताइन कि हिंआ के डाक्टर वेद त्रिपाठी रिफर कै दिहिन। बच्चा उल्टा रहा। हमरे हिआ रिफर कागज अउर रजिस्टर मा सब नोट बाय। आषाकार्यकत्री सुषीला बताइन कि पैसा के ताई हम उनसे कुछ नाय कहेन झूठै इल्जाम लगावत हइन।
तारुन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कै अधीक्षक अन्सार अली आपन पल्ला झाड़के बताइन कि बच्चा उल्टा रहा यही से हम हिंआ से रेफर कै दिहन। हमरे बसकै नाय रहा। फिर रास्ता मा काव भवा हमका पता नाय बाय।