सुविधा काहे नहीं मिलत

 

Milk_glassजिला चित्रकूट, ब्लाक पहाड़ी, गांव देवल। हिंया के राजरानी बीस बरस से कालोनी खातिर परेशान हवैं। कालोनी खातिर कइयौ दरकी प्रधान शान्ती देवी से कहा गा, पै कउनौ सुनवाई नहीं भे आय।
प्रधान शान्ती देवी के मनसवा शिवबरन का कहब हवै कि सरकार कइती से कालोनी पास होय जई। तौ राजरानी का कालोनी मिली।
हिंया के राजरानी कहिस कि गरीब मेहरिया हौं। मैं बांस के डलिया बना के अपने गुजर बसर करत हौं। अगर डलिया न बनइहौ तौ भूखन मरै के कगार मा पहुंच जइहौं। खाय का करौ कि रहै का घर बनवाव। यहै से सोचत हौं कि कालोनी मिल जाये तौ थोइ रहै का होइ जई। पता नहीं लागत कि कबै कालोनी मिली। सरकार गरीबन का सुविधा दीने हवै, पै बहुतै कम मिलत आय।