“सारी सरकार तुम्हारे साथ है” फिर क्यों हुई मौत महोबा के परसाहा गाँव की विनीता की?

जिला महोबा, ब्लाक कबरई, गांव परसाहा इते की विनीता पिछले साल से बीमार चल रई विनीता को इलाज परिवार वालेन ने झांसी, ग्वालियर, कानपुर, महोबा, और आस पास के सब गांव में करवा लओ। जी में लगभग पांच लाख रुपईया लग गये ते लेकिन विनीता को कोनऊ आराम नई भओ।
परिवार वालेन ने परेशान हो के सितम्बर में महोबा तहसील में ले गये ते उते सी एम ओ ने विनीता की गंभीर हालत देख के तुरंत एम्बुलेंस बुला के महोबा के जिला अस्पताल में भर्ती करवओ। लेकिन सही से इलाज न होबे के मारे विनीता की मौत हो गयी। जा बारे में न तो डॉक्टर कछु बता पा रहे न कोई की आखिर विनीता को कोन सी बीमारी हती।
अरविन्द्र सिंह विनीता के पति ने बताई के सी एम ओ के भर्ती कराबे के बाद जिला अस्पताल में बारह तेरह दिन भरती रही लेकिन कोनऊ आराम नई मिल रओ तो सो हम ओरे अपने घर लिबा ले आय। ते बाद में गला सूखन लगो तो पानी नही पी पात ती।
सी एम ओ कह रहे ते के अच्छो इलाज करा हे। मुंबई ले जेहे दिल्ली ले जे हे लेकिन कछु नई करो।
विनीता की मोड़ी ने बताई के उने बुखार रत तो हमेशा और हाथ पांव में दर्द रत तो पूरे शरीर में छोटे छोटे फोड़ा हते सो उन से रश्मि बहत ती। डॉक्टर उदय वीर सिंह ने बताई के हमे कोनऊ जानकारी नईया जो जानकारी तो आंफिस से पतो चल हे। हमाय पास विनीता के कागज नईया।
सी एम ओ ने बताई के विनीता की हालत भोत गंभीर हती जा से हमने भर्ती करवाओ तो। बाकि मरीज और के डॉक्टर के ऊपर निर्भेर करत और बसे भी विनीता को इलाज हर जघा हो चुको तो।

रिपोर्टर- सुनीता

20/10/2016 को प्रकाशित