सहकारी समिति ध्वस्त खाद बीज का परेशानी

 सहकारी समिति का या हाल
सहकारी समिति का या हाल

जिला बांदा, ब्लाक बड़ोखर खुर्द, कस्बा मटौध। हेंया के साधन सहकारी समिति लगभग 15 साल होइगे ध्वस्त परी है। या मारे खाद बीज खातिर लगभग 12 गांव के 4 हजार किसान परेशान है।
मटौंध कस्बा के बउवा पंडित, टेरू सिंह अउर साधन सहकारी समिति का चैकीदार रज्जू बतावत हैं-“हमरे हेंया के सहकारी समिति 15 साल से ध्वस्त है। किसान खाद, बीज खातिर नहदौरा अउर इचैली जात है। चमरहा गांव का किसान रमेश, मुड़ेरी गांव का किसान राधे कहत है कि जबै मटौंध मा साधन सहकारी समिति रहै। तबै किसानन का बहुतै आराम रहा है। अब खाद, बीज, खातिर भटकत हन समय से बोवाई नहीं होइ पावत आय।”
अपर जिला सहकारी अधिकारी सुरेन्द्र कुमार कहत है-“मटौंध साधन सहकारी समिति खातिर करमचारी निहाय। अगर होंआ समिति का सचिव होत अउर प्रस्ताव भेजत तौ इमारत बन जात। मटौंध के साधन सहकारी समिति कमेटी न्याय पंचायत से गठित होत है। वा समिति मा नौ लोग रहत है। अगर उंई कुछ करैं तौ समिति चालू होई सकत है।