सवारी करे या सेल्फी हो जाए, हरियाणा से बांदा आया एक ऊंट!

जिला बांदा, कस्बा बांदा शादी बियाह मा मड़ई घोड़ाके सवारी तौ देखिन होइ हैं,पै का कत्तौ ऊंट के सवारी भी देखे हौं अब बांदा मा ऊंट के सवारी भी मड़ई देख सकत है।
हरियाणा से बांदा तक शिवबदन एक ऊंट लइके आवा है। जेहिका देख के हेंया के मड़ई बहुतै खुश है। मड़ई ऊंट के साथै सेल्फी खींचत है अउर सवारी भी करत हैं बच्चा से लइके बूढ़ तक ऊंट के सवारी करै चाहत हैं।
ऊंट का मालिक शिवबदन कहब है कि मैं अमलोर गांव का रहै वाला आहूं। रुपिया के कमी रहै,यहै कारन हरियाणा से ऊंट लइके आय हौं। आगरा तक पैदल लाये हौं वहिके बाद कानपुर से साधन से लाये हौं। एक ऊंट के कीमत 50 हजार से लइके 1 लाख तक होत है। या ऊंट 50-60 हजार का मिलत हैं काहे से या देखे मा नींक लागत है। जन्मदिन, शादी, बियाह अउर जूलूस सगले ऊंट का लइ जात हौं।
एक प्रोग्राम के 3-4 हजार रुपिया लेत हौं। मड़ई ऊंट के सवारी भी करत है। ऊंट जंगली जानवर आय वहिका सब काम सीखावे का पड़त है तबहिने वा काम करत है। ऊंट हमार सब बात मानत है जउन काम सिखावा जात है वहै काम वा करत हैं।

रिपोर्टर- शिवदेवी

20/04/2017 को प्रकाशित