सर छुपावै ताई घर नाय

1212जिला फैजाबाद, ब्लाक मया, गांव अंकारीपुर। हिंआ 2012 कै पास भै इन्द्रा आवास खाली दिवार बनके तैयार होय गै बाय। अबहीं तक छत नाय लाग बाय।
विद्यावती, सावित्री, खेमहौ बताइन कि हमरे सबकै आवास की ताई पहिला किस्त आय रहा पैतिस हजार रूपया तौ खाली दिवाल तैयार मा लाग गै। सब पैसा मोरंग गिट्टी ईटा मा ही लाग गवा। बयाला कट गै बाय। बस छत लागै कै देरी बाय हिंआ तक जवन लागत लाग बाय वकै पर्ची बनवाय के ब्लाक पै पिछले साल जमा कै दिहे हई। पर अबही ले दुसरे किस्त कै  पैसा नाय मिला बाय।
अब बरसात मा छप्पर धइकेे रहत हई। पानी बरसाथै तौ छप्पर चुआथै। जब बरसात हुएै लागाथै तौ दुसरे के घरे मा रात गुजारै का पराथै। रोज-रोज दुसरे के घरे कब तक रहै।
पूर्व बी.डी.ओ. महेन्द्र देव बताइन कि मया ब्लाक मा नब्बे इद्रा आवास कै दुसरे किस्त कै पैसा प्रषासन से नाय आवत बाय हम कइव बार सूचना अउर लिस्ट भी भेज चुका हई।