सरकार बदल गई लेकिन बांदा रोडवेज की इमारत की किस्मत नहीं बदली, यात्री परेशान

जिला बांदा, कस्बा बांदा सरकार बदल गे पै हेंया तीन साल से बनत रोडवेज बस अड्डा नहीं बना आय।बस अड्डा बनै खातिर 5 करोड़ रुपिया का बजट आवा रहै।रोडवेज बस अड्डा जहां बनत है हुंवा पानी भरा रहत है जेहिसे सगले कीचड़ होइ जात है यहै कारन आवै जाए वाले मड़इन का हांथ गोड मा चोट लाग जात है तीन साल से सड़क नहीं बनी आय तौ पता नहीं अबै केत्ते दिन अउर लगिहैं।जिला बांदा, कस्बा बांदा सरकार बदल गे पै हेंया तीन साल से बनत रोडवेज बस अड्डा नहीं बना आय।बस अड्डा बनै खातिर 5 करोड़ रुपिया का बजट आवा रहै।रोडवेज बस अड्डा जहां बनत है हुंवा पानी भरा रहत है जेहिसे सगले कीचड़ होइ जात है यहै कारन आवै जाए वाले मड़इन का हांथ गोड मा चोट लाग जात है तीन साल से सड़क नहीं बनी आय तौ पता नहीं अबै केत्ते दिन अउर लगिहैं। कार्यदायी संस्था के जूनियर इंजीनियर आर.बी.साहू का कहब है कि 2 करोड़ बजट आवा रहै तौ बस अड्डा बन गा है जबै बाकी रुपिया अई तौ काम चालू  कीन जई। नीलम भुज त्रिपाठी का कहब है कि बस अड्डा के हालत बहुतै ख़राब सगले ईटा बालू पड़ी रहत है अउर बरसात का पानी भरा रहत है।6 महीना पहिले मोर गोड टूट गा रहै। अनिल कुमार का कहब है जउन पुरान इमारत बनीं रहै वहिमा बहुतै साफ सफाई रहत रहै पै अब तौ बहुतै गन्दगी रहत है।उमेश कुमार निगम अउर कामता प्रसाद का कहब है कि योगी जी के नई सरकार आयी तौ बस अड्डा बनवावा जई। जउन अधूरा काम पड़ा है तौ पूर करावा जई। कार्यदायी के. के त्रिपाठी बताइस कि बस अड्डा लापरवाही के कारन नहीं बन पावा आय।बालू मिटटी डलवावा जात है पै बस आवे जायें मा सब पानी मा मिल जात है।अधिषाशी अभियंता पी.सी गुर्जर मार्च मा बजट बना के भेंज दीन गा है।

रिपोर्टर- मीरा देवी

Published on Jul 26, 2017