सरकार की लुभावने वादों के खोखले पोल, महोबा जिले के लाड़पुर में

जिला महोबा, गांव लाड़पुर, जिला बांदा, गांव परसौड़ा केंद्र सरकार और राज्य सरकार हर साल  लुभावनी योजनायें बनातीं हैं। जैसे-प्रधानमंत्री आवास योजना,राम मनोहर लोहिया समग्र योजना। परन्तु इस तरह योजनाओं का लाभ लोगों को मिलता है या नहीं। लाड़पुर गांव के   लोंगो को लोहिया आवास तो मिले हैं परन्तु उसकी दूसरी किश्त  अभी तक नहीं मिली हैं। वही परसौड़ा गांव के लोगों से प्रधान आवास के लिए घूस मांगता है।
लाड़पुर गांव के जयबाई, परशुराम और माया का कहब है कि दूसरी किश्त  के लिए प्रधान से कहते हैं तो प्रधान कहता है कि अभी बजट नहीं आया है। कच्चे घरों में रहने को मजबूर हैं। तहसील दिवस में कई बार दरखास देने के बाद भी सुनवाई नहीं हुई है। जैतपुर ब्लाक के वरिष्ठ  सहायक विनोद कुमार का कहना है कि प्रशासन को दरखास दे दी है अब काम  का इन्तजार है।
परसौड़ा गांव के सभाजीत  वर्मा और सुमित्रा ने बताया कि प्रधान आवास देने के नाम पर दस हजार घूस मांगता है। हमारी जिन्दगी बीत गई कच्चे घर में रहते-रहते न हमको आवास मिला है न हमारे बच्चों को आवास मिल रहा हैं। पंचायत मित्र रामनरेश ने बताया कि प्रधान पैसा निकालने में बेइमानी कर रहा है। वहीं प्रधान रामकरन यादव इन आरोपों को गलत बता रहा है।

बाईलाइन-श्यामकली और शिवदेवी

04/10/2017 को प्रकाशित