सरकार और शिक्षक की लड़ाई में बच्चे परेशान

जिला सीतामढ़ी और शिवहर। बिहार राज्य के सभी जिला के शिक्षक लोग 8 अप्रैल 2015 से अनिष्चित कालिन हरताल पर है। जो वेतनमान करने के लिए है। जिस कारण विद्यालय बन्द है अउर बच्चो पढ़ाई के लिए इधर उधर भटक रहे हैं।
जैसे कि शिवहर जिला के तरियानी प्रखण्ड के षिक्षक अच्छेलाल राम, शिवहर के शिक्षक सुखरी पासवान और सीतामढ़ी जिला के रीगा प्रखण्ड के शिक्षक राज कुमार पंजियार, बथनाहा के शिक्षक राम लाल सब का कहना है कि हम लोग आठ घंटा पढ़ाते है। मानदेय नो हजार सात सौ रूपइया ही मिल रहा है। इतना रूपइया से इस महगांइ में घर परिवार चलाने में मुष्किल हो रही है। हमलोग समानय वेतन मागं रहे है। हमारी मांग को सरकार को पुरी करनी होगी। इसको लेकर 7 अप्रैल 2015 को राज्य के विधान सभा में मुख्यमंत्री नितिष कुमार कोइ संषोधन नहीं किये। जिस कारण हमलोग अनिष्चित कालिन हरताल पे है। विधार्थी कमलेष कुमार,सोनाली कुमारी, साक्षी कुमारी सब का कहना है कि विद्यालय बन्द है तो हम लोगो के पढ़ाइ में दिक्कत हो रही है। सरकार और शिक्षक के लड़ाई में जीवन हम लोगो के खराब हो रहा है।
जिला शिक्षा पदाधिकारी वर्षा  सहाय का कहना है कि इसके लिए राज्य में लिखित भेजा गया हैं।