सब्जी में छाई महंगाई

downloadजि़ला चित्रकूट। चित्रकूट जिले में इस समय सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं। जैसे जैसे दाम बढ़ रहे हैं सब्जी लाने वाला झोला हल्का होता जा रहा है। सब्जी की कटोरियां धीरे धीरे खाली होती जा रही हैं।
ब्लाक कर्वी, गांव धौरहीमाफी। यहां के संतू और पवन बताते हैं कि मोदी सरकार कहती थी कि महंगाई कम की जाएगी और अच्छे दिन आएंगे। मोदी का किया वादा कहां गया? क्या महंगाई और अच्छे दिन कभी साथ साथ आ सकते हैं ?
ब्लाक मानिकपुर,गांव अगरहुंडा। यहां के पिंटू, संतोषिया और रामलोचन का कहना हैं कि महंगाई घटने की बजाय बढ़ती ही जा रही रही है। ऐसे में रोज का पचास रुपए कमाने वाला सब्जी खरीद कर कैसे खा सकता है।
कर्वी के कुछ दुकानदारों का कहना है कि इस समय हर सब्जी महंगी है। थोक सब्जियों का दाम इतना ज्यादा है कि कम कम मुनाफे में भी सब्जी बेचें तब भी वह महंगी ही हो जाती है।

सब्जी के दाम
आलू – पचास रुपए पसेरी
प्याज – सत्तर रुपए किलो
करैला – पैंतालिस रुपए किलो
टमाटर – बीस रुपए किलो
चैराई – बीस रुपए किलो
भिंडी – पच्चीस रुपए किलो
परवल – चालीस रुपए किलो
लौकी – बीस रुपए किलो
रेरुवा – तीस रुपए किलो
कुम्हडा – बीस रुपए किलो
तरोई – चालीस रुपए किलो