सत्रहवें एशियन गेम्ज़ ने पकड़ी तेज़ी

इन्चन, दक्षिण कोरिया। सत्रहवें एशियन गेम्ज़ के शुरुआती हफ्ते में भारत के खिलाडि़यों ने कुल सोलह पदक जीते जिनमें एक स्वर्ण (पहला स्थान), दो रजत (दूसरा स्थान) और बाकि कांस्य (तीसरे स्थान) पदक हैं। पिछली बार 2010 में जब सोलहवें एशियन गेम्ज़ हुए थे तब भारत ने अपने सबसे बेहतरीन प्रदर्शन में कुल पैंसठ पदक जीते थे। दक्षिण कोरिया देश के इन्चन शहर में हो रहे सत्रहवें एशियन गेम्ज़ में पैंतालिस देशों के खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस खेल प्रतियोगिता में छत्तीस अलग-अलग खेल खेले जा रहे हैं। प्रतियोगिता का उद्घाटन 19 सितम्बर को हुआ और समापन 4 अक्टूबर को होगा।

फोटो साभार : AFP
फोटो साभार : AFP

भारत के लिए इकलौता स्वर्ण पदक जीतू राय ने निशानेबाज़ी में जीता है। इसी प्रतियोगिता में इन्होंने एक दूसरे खेल में कांस्य पदक भी जीता है। भारत के पास नेपाल देश के एक गांव में पैदा हुए जीतू 2006 से भारतीय सेना में हैं। वे भारत के लिए निशानेबाज़ी में कई अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में जीत हासिल कर चुके हैं।

फोटो साभार : squashmad.com
फोटो साभार : squashmad.com

अब तक रजत पदक पाने वाले भारतीय खिलाड़ी हैं कोलकाता शहर के सौरव घोशाल। घोशाल ने स्कवैश खेल में दूसरा स्थान पाया। घोशाल पहले भारतीय हैं जिन्होंने इस खेल में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर यह स्थान जीता है। स्कवैश एक छोटी खोखली रबड़ गेंद और रैकेट से चार दीवारों के बंद स्टेडियम में खेला जाता है। इसे स्वास्थ्य के लिए सबसे बेहतरीन खेल माना जाता है।