सतना जिले के अमौधा गाँव में बाबा साहेब की मूर्ती खंडन का एक और मामला सामने आया, भड़के लोग

एक तरफ जहां बाबा साहब डा. भीमराव अम्बेडकर के जन्मदिवस की तैयारी चल रही है, वहीं मूर्ती तोड़ने का सिलसिला अभी भी जारी है। 6 अप्रैल को सतना जिले के अगौधा गांव में भी मूर्ति तोड़ने का मामला सामने आया है।
वार्ड पार्षद का कहना है कि जो भी हुआ है रात में हुआ है, सामने होता तो पकड़कर मारते। पान वाले ने बताया कि बाबा साहब की गर्दन कट गई है तब मैनें तुरंत सौ नम्बर और थाने में फोन किया है तब पुलिस आयी है।
प्रदीप सिंह का कहना है कि 6 दिसम्बर 2001 को बाबा साहब की मूर्ति का निर्माण कराया  गया था। किसी ने मूर्ति कोप खंडित कर दिया है, प्रशासन की तरफ से कोई सुरक्षा के इंतजाम नहीं किये गये है इसलिए लोग आन्दोलन करने को तैयार हैं। भगवानदीन अहिरवार का कहना है कि जब तक पुलिस मुलजिम को गिरफ्तारी नहीं करती है, तब तक धरना चलेगा।यहां की पुलिस हमारे ऊपर दबाव बनातीं है। त्रिवेणी प्रसाद और राजेश लाधिया का कहना है कि जिसने मूर्ति खंडित की है उसे पकड़कर कड़ी से कड़ी सजा दी जायें।
एसपी राजेश हिगढ़कर ने बताया कि मूर्ति तोड़ने वालो के खिलाफ आई पी एस धारा 295 के तहत मुकदमा दर्ज क्र लिया गया है, साथ ही इन्हें पकड़ने वाले को दस हजार का इनाम घोषित किया गया है।

रिपोर्टर- आभा विश्वास

Uploaded on Apr 9, 2018