सड़ गे सब्जी, मुआवजा के मांग

SDC11905जिला चित्रकूट, ब्लाक रामनगर, गांव पराकांे। हिंया के रहैं वाली लक्ष्मीनिया का कहब हवै कि 12 दिंसबर 2014 से पानी बरसत रहै अउर कोहरा परत हवै। यहै से हमार भाटा, टमाटर मिर्चा अउर गोभी के फसल खराब होइगे हवै। या कारन मुआवजा के मांग खातिर 13 जनवरी का तहसील दिवस मा एस.डी.एम. का लिखित दरखास दीन गे।
कस्बा के भागवत का कहब हवै कि दुइ बिगहा जमीन मा गोभी, टमाटर अउर मिर्चा के बारी लगाये हन। कोहरा अउर पानी बरसै से फसल मा कीड़ा लाग गें। सब्जी का बेंच के घर का खर्चा चलत हवै।
गांव भंभेट, पुरवा मझगंवा के सम्पतिया कहत हवै कि एक बिगहा जमीन मा भाटा अउर गोभी बोये हौं। वहिमा कीड़ा लाग गें हवंै। सब्जी मा जउन बीज बोआ हवै अउर सीचैं खातिर पानी लगावा हवै वा रूपिया न निकर पाई। यहिनतान सुमित्रा कहिस कि मड़इन से उधार रूपिया लइके टमाटर अउर मिर्चा के बीज तीन बिगहा जमीन मा लगाये रहौं। कसत कर्जा भरिहौं। यहै सांेच हमेशा सताये रहत हवै।
राजापुर एस.डी.एम. अभयराज कहिन कि लेखपाल से सर्वे करवावा जई। यहिके बाद एक बिगहा जमीन के हिसाब से पांच सौ रूपिया मुआवजा दीन जई।

नियम- सरकारी नियम हवै कि एक बिगहा जमीन मा एक मड़ई का पांच सौ रूपिया के हिसाब से सरकार मुआवजा देत हवै। या मुआवजा जिला उद्यान विभाग कइती से मिलत हवै।