सड़क तो लोगों की सुविधा के लिए बनती है लेकिन बांदा का ये हाईवे तो जान का दुश्मन है

जिला बांदा, ब्लाक तिन्दवारी, गांव मुंगुस सड़क बने से आवे जाये मा सुविधा होइ जात  है। पै हेंया हाइवे मा  ब्रेकर न बने से आये दिन एक्सीडेंट होत  रहत  है।जिला बांदा, ब्लाक तिन्दवारी, गांव मुंगुस सड़क बने से आवे जाये मा सुविधा होइ जात  है। पै हेंया हाइवे मा  ब्रेकर न बने से आये दिन एक्सीडेंट होत  रहत  है। 3 जुलाई का तेरह साल के आकाश के मार्शल के टक्कर से एक्सीडेंट होइगा।बाद मा वहिके मउत होइगे है। तहसीलदार सुनील कुमार कहत है कि एक्सीडेंट खातिर दुइ ब्रेकर बनाये जइहैं।बैंक के पास अउर स्कूल के पीछे ब्रेकर बनाये जइहैं। आकाश के बाप रमेश अउर महतारी राजकुमारी बताइस कि जबै आकाश का एक्सीडेंट भा रहै  तौ हुंवा खड़े मड़ई हमें बताइन हैं जबै हम देखे गयेन तौ वा बेहोश रहा है तबै तिन्दवारी अस्पताल मा भर्ती कराये हन पै वा बच नहीं पावा आय। नत्थू प्रसाद,रविकरण अउर कमलेश बताइन कि हाइवे मा ब्रेकर न होय से रोज घटना होत है। एक महीना मा 8-10 एक्सीडेंट होइ जात है।स्कूल मा छोट-छोट बच्चा पढ़त है ब्रेकर न होय से एक्सीडेंट होइ जात है दरोगा कहत कि हेंया ब्रेकर न बनीं।अपने से मट्टी डाल के ब्रेकर बना लेव।  एस.डी.एम प्रहलाद सिंह का कहब है कि एक्सीडेंट मा तेरह  साल के लड़का के दर्दनाक मउत होइ गे है। हुंवा जल्दी से रोड ब्रेकर बनाये जइहैं अउर 5 सौ मीटर पहिले लिखा जई आगे अन्धा मोड़ अउर  ब्रेकर है। येत्ती घटना होय के बाद भी देखौ प्रशासन ब्रेकर बनवावे का बस देत है।

रिपोर्टर- शिवदेवी 

Published on Jul 5, 2017