सड़क खराब होंय से पलटी जीप

DSC08839
देऊंधा नदी के सड़क

जिला चित्रकूट। सड़कन के हाल तौ बहुतै खराब हवै। यहिके बारे मा प्रशासन अउर शासन भी कउनौ ठोस कदम काहे नहीं उठावत आय? कर्वी से लइके मऊ के सड़क जउन राष्ट्रीय राजमार्ग हवै। दस बरस के बाद 2012 मा बनवाई गें, पै छह महीना मा वा सड़क के हाल वहिनतान होइ गें हवै। एक बरसात मा देऊंधा नदी के ऊपर बनी सड़क बहिगे। या कारन हजारन वाहन का आवै जाये मा डेर बना रहत हवै।
5 जुलाई 2013 का रोडवेज कर्वी से जात रहै जेहिमा लगभग अस्सी यात्री बइठे रहै हवैं। जबै बस देऊंधा नदीं मा पहुंची तौ एक बस एक दम डगमगाय लाग बस नदीं मा गिरत गिरत बची। दूसर घटना 8 जुलाई का 2013 जीप नदीं मा कूदै से बच गें सड़क मा गिट्टी अउर बालू बस बची हवै।
9 जुलाई 2013 का भौंरी मा बस पलटत बची। काहे से हिंया भी सड़क मा बड़े-बड़े गड़्ढ़ा हवै। इनतान के सड़कन खातिर का सरकार के लगे बजट नहीं आय। का सराकर मड़इन के जान जाये के बादै सड़क बनवावै का बजट पास करी?
यहिनतान सड़क के दूसर खबर जिला चित्रकूट, ब्लाक कर्वी, कस्बा शिवरामपुर मा हवै। हिंया के जय प्रकाश, आशीष का कहब हवै कि सड़क का हाल बहुतै खराब हवै। साधन निकरत हवै, तौ गन्दा पानी के छीटा मड़इन के ऊपर परत हवै। 19 जून 2013 का मुख्यमंत्री आये रहै, तौ पी.डब्लू.डी विभाग वाले अउर गिट्टी डार के सड़क का नींक बना दिहिन रहंै। यहिके बाद फेर वहिनतान होइगे। यहिसे तौ अउर ज्यादा दुर्घटना का डेर बना रहत हवै। मड़इन के साइकिल अउर गाड़ी के पहिया फिसल जात हवैं। 9 जुलाई 2013 का लोक निर्माण विभाग मंत्री का आवैं का रहै, तौ 5 जुलाई 2013 का सड़क मा जे.सी.बी. मशीन चली हवै। आखिर पी.डब्लू.डी विभाग वाले काहे मड़इन के आंखिन मा धूल झोकैं मा लाग हवै।
पी.डब्लू.डी विभाग के सहायक अभियन्ता सुरेश राम का कहब हवै कि या सड़क बांदा जिला के राष्ट्रीय लोक निर्माण खण्ड विभाग बनवाई। हिंया से न बनी। यहिके जिम्मेदार हम नहीं आहिन।