संसद के शीतकालीन सत्र का पहला दिन हंगामें के साथ हुआ स्थगित

साभार: विकिपीडिया

संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू हो गया और पहले दिन संसद के दोनों सदनों में दिवंगत सांसदों को श्रद्धांजलि दी गई। श्रद्धांजलि देने के बाद लोकसभा को 18 नवंबर तक के लिए स्थगित कर दिया गया।
इसके बाद, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह पर पीएम नरेंद्र मोदी की टिप्पणी और शरद यादव की सदस्यता खत्म करने के मुद्दे पर हंगामा किया।
कांग्रेस और विपक्षी सदस्य पीएम नरेंद्र मोदी से माफी की मांग कर रहे थे। हंगामे के चलते राज्य सभा की कार्यवाही को पहले 12 बजे तक और फिर दोपहर 2.30 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया।
कांग्रेस ने कहा है कि पीएम मोदी को गुजरात चुनाव मेंपाकिस्तानका इस्तेमाल करने के मुद्दे पर संसद में सफाई देनी होगी। इस बीच आज मोदी कैबिनेट की बैठक भी होनी है, जिसमें तीन तलाक पर बिल को मंजूरी दी जाएगी।
बता दें कि सरकार ने इस सत्र के लिए नौ नए विधेयक की सूची बनाई है जिनमें तीन तलाक का अपराध घोषित करना जैसा बिल भी शामिल है।
वहीं इसमें  24 विधेयक ऐसे हैं जो या तो लोकसभा या फिर राज्यसभा में अटके हैं। कांग्रेस 14 कार्यदिवस वाले इस सत्र में राफेल, किसानों की अनदेखी और चुनाव में पाकिस्तान तक को ले आने पर सवाल उठाने की तैयारी में है।
5 जनवरी तक चलने वाले शीतकालीन सत्र में गुजरात और हिमाचल के चुनावी नतीजे सरकार और विपक्ष के तेवरों पर खासा असर डालेंगे।