शुरू हो गया गोवर्धन मेला। खुश तो बहुत होंगे! नहीं? भला क्यों?

जिला महोबाचरखारी को मिनी कश्मीर कहा जाता है।लेकिन क्या आपको पता है कि इसको मिनी बृंदावन भी कहा जाता है।इसका कारण यह है कि यहां कृष्ण भगवान् के एक सौ आठ मन्दिर  बने हैं जिसे राजा मलखान देव ने बनवाया था। मेले की शुरूआत दीपावली के बाद होती है और पूरे कार्तिक महीने चलती है।इस बार का  मेला ख़ास है  क्यों कि पहली बार किसी मुख्यमंत्री ने मेले का उद्घाटन किया है।
बाबू का कहना है कि मेले का मुख्य आकर्षण तालाब और कृष्ण भगवान का मन्दिर है।
नेक सिंह राजपूत ने बताया कि यहां के जो राजा थे बहुत ही धर्मात्मा थे।बृंदावन बिहारी की मूर्ति लायें  और मन्दिर बनवाया था। सुनीता ने बताया कि हम गोबर्धन पूजा करनें  आते हैं।
अब्दुल रज्जाक ने बताया कि  जी एस टी लगने से हम माल कम ला पा रहे हैं। इस लिए
इस बार के ऐतिहासिक मेले में व्यापारी खुश नहीं हैं।लक्ष्मी ने बताया कि तीन साल  पहले पानी बरसा था तब अच्छी दुकानदारी हुई थी ।नसीन ने बताया कि बुन्देलखण्ड में सूखा पड़ा है लोगों के पास पैसा नहीं है इस कारण ब्रिकी नहीं हुई है।

बाईलाइन-श्यामकली

Published on Nov 2, 2017