शुरू होने को है ‘आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017’

साभार: ट्विटर/आई सी सी 2017 ऑफिसियल

वर्ल्ड कप के बाद आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी आईसीसी की तरफ से खेला जाने वाला दूसरा सबसे बड़ा एकदिवसीय क्रिकेट का टूर्नामेंट है। इसकी शुरुआत 1998 में आईसीसी नॉकआउट टूर्नामेंट के रूप में की गई थी।

2002 में इसका नाम बदलकर चैंपियंस ट्रॉफी कर दिया गया। यह वर्ल्ड कप से अलग तरह का आयोजन होता है। वर्ल्ड कप हर चार साल में आयोजित किया जाता है, जबकि चैंपियंस ट्रॉफी हर दो साल में आयोजित की की जाती है।

दो हफ्ते के आयोजन में इसके मैच खेले जाते हैं, जबकि वर्ल्ड कप में एक महीने से ज्यादा समय तक टीमों में मुकाबले होते हैं। 1998 में आईसीसी नॉकआउट के मुकाबले बांग्लादेश के ढाका में खेले गए थे, जिसमें वेस्टइंडीज को हराकर साउथ अफ्रीका चैंपियन बना था। अभी तक इसके छ: टूर्नामेंट हो चुके हैं। 2008 में इसका इस टूर्नामेंट को निरस्त कर दिया गया, क्योंकि इसका आयोजन पाकिस्तान में होना था।

सुरक्षा कारणों को लेकर टीमों में इसमें हिस्सा लेने से इंकार कर दिया, इसलिए आईसीसी ने इसका आयोजन 2009 में दक्षिण अफ्रीका में किया था।

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के आयोजन में इंडिया और पाकिस्‍तान की टीमें चार जून को बर्मिंघम के एजबेस्टन में एक दूसरे के आमने-सामने होंगी। यह 18 दिवसीय टूर्नामेंट एक से 18 जून तक आयोजित होगा, जिसके मैच कार्डिफ के कार्डिफ वेल्स स्टेडियम और लंदन के द ओवल में भी खेले जायेंगे। भारत-पाक भिड़ंत से पहले ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की टीम एजबेस्टन में विश्व कप 2015 फाइनल की तरह एक दूसरे से भिड़ेंगी।

टूर्नामेंट की मेजबान और 2004 एवं 2013 के फाइनल में पहुंचने वाली इंग्लैंड की टीम ओवल में टूर्नामेंट के शुरूआती मैच में बांग्लादेश से भिड़ेगी। इसी स्टेडियम में पूर्व चैम्पियन श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका की टीम भी आमने-सामने होगी। टूर्नामेंट का कार्यक्रम प्रतियोगिता के लिए फेंकी जाने वाली पहली गेंद से बिलकुल एक साल पहले द ओवल पर घोषित किया गया। इसके तहत कुल 15 मैच ढाई हफ्ते तक खेले जाएंगे। इसमें तीन नॉकआउट मुकाबले भी शामिल होंगे।

इस टूर्नामेंट के लिए 30 सितंबर 2015 तक टॉप पर रहने वाली आठ टीमों ने क्वालीफाई किया है, जिसमें विश्व चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया को टॉप रैंकिंग मिली है। टीम ग्रुप ए में टॉप पर है, जिसमें चौथी वरीयता प्राप्त न्यूजीलैंड, छठवें नंबर की टीम इंग्लैंड और सातवें नंबर पर बांग्लादेश की टीम भी शामिल हैं। बांग्लादेश की टीम 2006 के बाद पहली बार इस प्रतियोगिता में वापसी कर रही है।

भारत ग्रुप बी में टॉप पर है, जिसमें तीसरे नंबर की टीम दक्षिण अफ्रीका, पांचवीं नंबर की श्रीलंका और आठवें नंबर की पाकिस्तानी टीम मौजूद है। हर ग्रुप से टॉप दो टीमें सेमीफाइनल तक पहुंचेंगी, जो 14 जून को कार्डिफ और 15 जून को एजबेस्टन में खेला जाएगा। फाइनल की मेजबानी द ओवल करेगा। फाइनल के लिये एक सुरक्षित दिन भी रखा गया है। कार्यक्रम की घोषणा करते हुए आईसीसी सीईओ डेविड रिचर्डसन ने कहा, ‘आईसीसी चैम्पियन ट्रॉफी एक छोटा टूर्नामेंट है, जिसका लुत्फ दर्शक और खिलाड़ी दोनों उठाएंगे।

टूर्नामेंट का कार्यक्रम

एक जून : इंग्लैंड बनाम बांग्लादेश, द ओवल

दो जून : ऑस्ट्रेलिया बनाम न्यूजीलैंड, एजबेस्टन

तीन जून : श्रीलंका बनाम दक्षिण अफ्रीका, द ओवल

चार जून : भारत बनाम पाकिस्तान, एजबेस्टन

पांच जून : ऑस्ट्रेलिया बनाम बांग्लादेश, द ओवल (डे नाइट)

छह जून : इंग्लैंड बनाम न्यूजीलैंड, कार्डिफ

सात जून : पाकिस्तान बनाम दक्षिण अफ्रीका, एजबेस्टन (डे नाइट)

आठ जून : भारत बनाम श्रीलंका, द ओवल

नौ जून : न्यूजीलैंड बनाम बांग्लादेश, कार्डिफ

10 जून : इंग्लैंड बनाम आस्ट्रेलिया, एजबेस्टन

11 जून : भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका, द ओवल

12 जून : श्रीलंका बनाम पाकिस्तान, कार्डिफ

14 जून : पहला सेमीफाइनल : ए 1 बनाम बी 2, कार्डिफ

15 जून : दूसरा सेमीफाइनल : ए 2 बनाम बी 1, एजबेस्टन

18 जून : फाइनल, द ओवल

19 जून : रिजर्व डे।