शिक्षामित्रों का धरना जारी, कई हुए बेहोश

(फोटो साभार - अमर उजाला)
(फोटो साभार – अमर उजाला)

जि़ला वाराणसी। शिक्षा मित्र से सहायक अध्यापक पद के लिए हुई नियुक्ति रद्द होने से शिक्षामित्रों का गुस्सा सातवें आसमान पर है। 14 सितंबर को शिक्षामित्रों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय कार्यालय के सामने धरना दिया। धरने के समय छह शिक्षामित्र बेहोश भी हो गए।
प्रधानमंत्री के कार्यालय के सामने धरना करने वाले शिक्षामित्र प्रधानमंत्री मोदी से मिलने की जि़द पर अड़े हैं। दरअसल 18 सितंबर को यहां प्रधानमंत्री आएंगे। शिक्षामित्रों ने कहा कि अगर प्रधानमंत्री हमसे नहीं मिले तो हम आत्मदाह करेंगे। शिक्षामित्रों को बनारस आने से रोकने में लगा प्रशासन
शिक्षामित्रों के धरना प्रदर्शन और आत्मदाह की चेतावनी से प्रशासन काफी डरा हुआ है। बनारस के डी.एम. राजमणि यादव ने कहा है, ‘शासन द्वारा आसपास के सभी जिलों के जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों से अनुरोध किया गया है कि वे 18 सितंबर को अपने-अपने जि़लों के शिक्षामित्रों को यहां आने से रोकें। हमने तैयारी कर ली है किसी भी हालत में शिक्षामित्रों को प्रधानमंत्री की सभा तक नहीं पहुंचने दिया जाएगा।’