शानदार प्रदर्शन और एक खास जीत

(फोटो साभार - विकिपीडिया )
(फोटो साभार – विकिपीडिया )

इंग्लैंड। यहाँ के बर्मिंघम शहर में बारिश से प्रभावित मैच में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान धोनी ने नया इतिहास लिखा। 23 जून को चैम्पियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट के फाइनल मैच में भारत ने इंग्लैण्ड को पांच रन से हराया। बारिश के कारण बीस ओवर का मैच बहुत रोमांचक रहा। कभी भारत का पलड़ा भारी तो कभी इंग्लैण्ड का लेकिन अंत में धोनी की कप्तानी और भारतीय खिलाड़ियों की फील्ड में चुस्ती ने फैसला भारत के हक़ में किया।
भारत की बल्लेबाजी थोड़ी ढीली रही हालांकि बारिश से भीगे पिच पर रन बनाना भी मुश्किल था। जब एक ही ओवर में सुरेश रैना और धोनी का विकेट गिर सभी क्रिकेट प्रेमी मायूस थे। लेकिन रविन्द्र जडेजा और विराट कोहली के छक्कों से भारतीय पारी मज़बूत हुई और इंग्लैण्ड के सामने रखा 130 रन का लक्ष्य।
इंग्लैण्ड के कप्तान कुक पहले ही ओवर में आउट हो गए जब आश्विन ने एक बेहतरीन कैच लिया। इसके बाद मॉर्गन और बोपारा ने इंगलैं की पारी बखूबी संभाली और ऐसा लगने लगा कि इंगलैं की जीत निश्चित है। फिर इशांत शर्मा के एक ही ओवर में दोनों बल्लेबाजों का विकेट गिर और इसके बाद भारत तेज़ी से जीत की ओर बढ़ते गए।
मैच के अंत में टूर्नामेंट में रवींद्र जडेजा को सबसे ज्यादा विकेट लेने के लिए सुनहरी गेंद और शिखर धवन को सबसे ज्यादा रन बनाने के लिए सुनेहरा बल्ला दिया गया।