शादी के रूपिया का भटकैं

Indian_wedding_Delhiजिला बांदा, कांशीराम कालोनी। हेंया के माया का कहब है कि फरवरी 2012 मा बिटिया प्रियंका के शादी का फरम भरे रहौं। शादी का रूपिया विकास भवन से आज तक नहीं मिला आय।
माया इनतान से आपन समस्या बतावत है-“मैं गरीब हौं दुसरेन के घरन मा चैका बर्तन का काम करती हौं। 2012 मा शादी अनुदान योजना (गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करै वाले परिवार का बिटिया के शादी करै खातिर शादी अनुदान योजना के तहत बीस हज़ार रूपया मिलत है) के तहत मिलै वाला रूपिया का फारम भर के समाज कल्याण आफिस मा जमा करे रहौं। एक साल बीत गा, पै अबै तक शादी वाला बीस हजार रूपिया नहीं मिला आय। रूपिया खातिर समाज कल्याण विभाग के कइयौ चक्कर लगा चुकी हौं। होंआ के अधिकारी मोहिका डांट के भगा देत हैं  । कउनौ जानकारी भी नहीं बतावैं कि रूपिया मिल जाय तौ बाकी शादी का कर्ज भर देव।”
समाज कल्याण विभाग के कनिष्ठ लिपिक श्याम बाबू कहिन कि 2011-2012 के शादी अनुदान का बजट नहीं आवा आय। रूपिया आवा होत तौ दई दीन जात।