शहरों से दूर इन्हें भाए जंगल

pic-2pic-3दुनियाभर में कई लोग ऐसे भी हुए जिन्हें भागदौड़ नहीं भाती थी। इन्हें भाता है तो प्राकृतिक वातावरण। दुनियाभर के ऐसे ही कुछ लोगों ने अपने शहरी जीवन को छोड़कर चुना प्राकृति के बीच रहना। यहां बड़े बड़े मॉल नहीं थे। बिजली पानी की दिक्कत थी। सपाट सड़कें नहीं थीं। रेल नहीं थीं। पर जंगलों के बीच इन्हें शांति मिलती थी। रोज़मर्रा की जि़ंदगी जीने के लिए यह लोग कई किलोमीटर चलकर अपने लिए समान जुटाते थे। लेकिन शोरशराबे भरी जिंदगी में नहीं लौटना चाहते थे।

फ्रांस देश के जंगल वाले इलाके में मिस्टर ब्राय नाम के एक व्यक्ति ने कई साल गुज़ारे। उसने अपना घर बनाया। दरअसल वह पर्यावरण को लेकर काम कर रहे थे। पर्यावरण को करीब से महसूस करने के लिए उन्होंने और उनकी टीम ने घने जंगल में अपने घर बनाए।

piv -1स्पेन देश के साइरिया नवादा गांव में एक अंग्रेज सिएरा केट नाम की अंग्रेज महिला ने अपने लिए ज़मीन खरीदी थी। जहां उसने लकड़ी और घास से अपने लिए घर बनाया था। यह शौचालय भी खुद अपने हाथों से बनाया था।