वैवाहिक बलात्कार के खिलाफ बोली कैटरीना कैफ

साभार: फ्लिक क्रिएटिव कॉमन्स
साभार: फ्लिक क्रिएटिव कॉमन्स

मशहूर बॉलिवुड अभिनेत्री कैटरीना कैफ ने देश में हो रहे लैंगिक भेदभाव और महिलाओं की स्थिति पर मुंबई में आयोजित वी युनाइट सम्मेलन, में खुलकर बात की। कैटरीना कैफ ने कहा है कि महिलाओं को चुपचाप अत्याचारों को सहन करने के बजाय उनके खिलाफ होने वाले वैवाहिक बलात्कार एवं अन्य तरह के अपराध जैसे मुद्दों पर जरूर आवाज उठानी चाहिए।
कटरीना ने कहा, “मैं महिलाओं से कहना चाहती हूं कि मुखर होकर अपने अधिकारों और सम्मान की रक्षा के लिए आवाज उठाइए, हम किसी भी तरह कमजोर नहीं हैं। हैरानी की बात यह है कि पढ़ी-लिखी महिलाएं भी इसके विरोध में कदम नहीं उठा पातीं और चुप रहकर सब सहती रहती हैं।”
उन्होंने आगे कहा, “इंडिया में देश के सर्वोच्च पदों पर महिलाएं रह चुकी हैं,जबकि यूनाइटेड किंगडम में अब तक ऐसा नहीं हो पाया है। बावजूद इसके इंडिया में जेंडर को लेकर इतना भेदभाव क्यों है, यह आश्चर्य की बात है।”
नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के डेटा का उल्लेख करते हुए कैटरीना ने अंत में ये भी कहा कि उनको उम्मीद है कि महिलाएं अपने खिलाफ होने वाले अपराध का खुलकर विरोध करेंगी।