वैलेंटाइन डे पर देखें, बांदा की वर्षा और अशोक की प्रेम कहानी

बांदा शहर की वर्षा और अशोक की प्रेम कहानी चार महीने पहले जातिवाद के कारण सूली चढ़ते बची। परिवार,समाज और पुलिस की दखलंदाजी के कारण वर्षा बन गई ‘रिवाल्वर रानी’।
वर्षा ने अपनी कहानी के बारें में बताया कि पहले हमारी बातें होती थी फिर हम आगे बढ़ गये और वो सब हुआ जो लव स्टोरी में होता है। हमने सोचा था कि एक-दूसरे से शादी करके साथ रहेंगे। किन्तु वो अपने माता-पिता से यह सब नहीं कह पायें क्योंकि वो यादव जाति के है और मैं साहू जाति की।
अशोक अपने प्यार भरे लम्हों के बारें में बता रहे है कि वर्षा जब सब कुछ छोड़कर मेरे पास आ गई मैं उस पल को कभी नहीं भूल पाउंगा। और तभी मैने उसका साथ देने का वादा किया और ख कि अब चाहे जो हो जायें हम एक-दूसरे के साथ रहेंगे। जो लोग एक-दूसरे से प्यार करते है, वो जातिवाद के कारण शादी नहीं कर पाते हैं और जिन्दगी भर पछताते हैं। इसलिए जातिवाद को तोडकर आगे बढ़ना चाहिये।  

रिपोर्टर- मीरा देवी और गीता देवी

Published on Feb 9, 2018