विश्व पर्यावरण दिवस पर सुर्शन पटनायक ने बेकार बोतलों से रेत पर बनाया विश्व का सबसे बड़ा कछुआ

साभार: पिक्साबे

भारत में सैंड(रेत) आर्ट को पहचान दिलाने का श्रेय मशहूर कलाकार सुरदर्शन पटनायक को जाता है। विश्व पर्यावरण दिवस 2018 के मौके पर उन्होंने एक बार फिर ऐसा कारनामा किया है जो पूरी दुनिया में मशहूर हो रहा है।
उन्होंने प्लास्टिक की बोतलों के सहारे ओडिशा के पुरी बीच पर विश्व का सबसे बड़ा सैंड कछुआ बनाकर अपनी कलाकारी का और नमूना पेश किया है।
सुदर्शन पटनायक की ये कलाकारी इसलिए और अहम हो जाती है क्योंकि हाल ही में थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक में प्लास्टिक के 80 बैग गटकने की वजह से एक व्हेल की मौत हो गई।
संयुक्त राष्ट्र संघ ने इस साल विश्व पर्यावरण दिवस के आयोजन की मेजबानी भारत को सौंपी है। प्लास्टिक के प्रयोग से मुक्ति की थीम पर आधारित पांच दिवसीय समारोह के अंतिम दिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पूर्ण अधिवेशन को संबोधित करेंगे।