विश्व टीबी दिवस पर आइए जानते हैं अम्बेडकरनगर में टीबी मरीज़ का हाल

जिला अम्बेडकरनगर, गाँव बौरे अउर तितरिया एहि गाँव मा कुछ टी.बी. मरीज अहैं जेकै आरोप बाय कि सरकारी अस्पताल मा सिर्फ दवा पूर्ति के नाम पै खाना पूर्ति कीन जाथै।
वंशराज टी.बी. मरीज कै कहब बाय कि सांस फूलै के बिमारी बाय। प्राइवेट अस्पताल से आराम बाय जब सरकारी अस्पताल से नाय। राजकली टी.बी. मरीज कै कहब बाय कि दुई साल से परेशान हई घबराहट हुआथै। शरीर मा सूजन बाय सरदर्द हुआथै सन्पात घेराथै। सूजन अउर घबराहट कै आराम बाय। प्रधान से कहै तौ उनहूँ नाय सुनिन कि पेंशन बनवाय दियै।
मेहिलाल कै कहब बाय कि आशा गाँव मा टीकाकरण करै आवाथिन। देखरेख करै दवाई पियावै के ताई आवाथिन।
डाक्टर हनुमान प्रसाद सी एस सी प्रभारी कै कहब बाय कि जाँच मा कमी पाय जाय पै बलगम के जाँच कीन जाथै। अउर उपचार निशुल्क कीन जाथै। छह महीना बराबर दीन जाथै। बहुत सारे मरीज हुआथिन कि थोडा सा आराम होय जाथै तौ दवा बंद कै दियाथिन। जबकि यकै लम्बा कोर्स हुआथै।जब दवा छोड़ देइहैं तौ पूरी तरह लाभ न होये।

रिपोर्टर- आरती

24/03/2017 को प्रकाशित