विश्व चैंपियनशिप में जीते सिंधू, प्रणीत और जयराम

ओलंपिक पदक विजेता, बी साई प्रणीत और अजय जयराम ने अच्छा प्रदर्शन जारी रखते हुए विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप के एकल वर्ग में एक बार फिर जीत दर्ज की।

अजय जयराम
फोटो साभार: विकिपीडिया

वर्ष 2013 और 2014 में कांस्य पदक जीतने वाली सिंधू ने कोरिया की किम ह्यो मिन को दूसरे दौर के 49 मिनट चले मुकाबले में सीधे गेम में 21-16 21-14 से हराकर महिला एकल के प्री क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है। कोरिया की खिलाड़ी के खिलाफ पांच मैचों में सिंधू की यह चौथी जीत है।

पीवी सिंधू
फोटो साभार: विकिमीडिया कॉमन्स


वहीं, प्रणीत ने पहले गेम में 5-9 और 14-16 जबकि दूसरे गेम में 10-13 और 15-17 से पिछड़ने के बाद जोरदार वापसी करते हुए हांगकांग के वेई नान को 48 मिनट चले मुकाबले में 21-18 21-17 से हराया।
दूसरी तरफ, जयराम ने एकतरफा मुकाबले में आस्ट्रिया के लुका व्रेबर के खिलाफ 21-14 21-12 की आसान जीत दर्ज की। वह अगले दौर में नीदरलैंड के मार्क कालजोव से भिड़ेंगे। 

बी साईं प्रणीत
फोटो साभार- बी साईं प्रणीत, फेसबुक पेज


सैयद मोदी ग्रां प्री गोल्ड का खिताब जीतने वाली प्रणव जैरी चोपड़ा और एन सिक्की रेड्डी की भारत की शीर्ष मिश्रित युगल जोड़ी ने भारत की प्राजक्ता सावंत और मलेशिया के योगेंद्रन कृष्णन की जोड़ी को सीधे गेम में 21-12 21-19 से हराया
मिश्रित युगल के अन्य मैचों में हालांकि भारत को निराशा हाथ लगी जब बी सुमित रेड्डी और अश्विनी पोनप्पा तथा सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और मनीषा के की जोड़ियों को शिकस्त का सामना करना पड़ा।
सुमित और अश्विनी को कड़ी चुनौती पेश करने के बावजूद वांग यिलयु और हुआंग डोंगपिंग की चीन की 13वीं वरीय जोड़ी के खिलाफ 17-21 21-18 5-21 से हार का सामना करना पड़ा। सात्विकसाईराज और मनीषा की जोड़ी को माथियास क्रिसटेंसन  और सारा थिगेनसन की डेनमार्क की 14वीं वरीय जोड़ी ने 22-2, 21-18 से हराया।
अश्विनी हालांकि महिला युगल के अगले दौर में जगह बनाने में सफल रही। उनकी और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी ने इंडोनेशिया की रिरिन एमेलिया और मलेशिया की अन्ना चिक यिक चियोग की जोड़ी को सीधे गेम में 21-15 21-13 से हराया।
सात्विकसाईराज को पुरष युगल में भी हार का सामना करना पड़ा जब उनकी और चिराग शेट्टी की जोड़ी हिरोयुकी एंडो और युको वातानुबे की जापान की जोड़ी से एकतरफा मुकाबले में 8-21 12-21 से हार गई।