विभाग करमचारी आपन मांगन का लइके धरना प्रदर्शन मा उतारू

उत्तर प्रदेश सरकार होय चाहे केन्द्र सरकार वा आपन संबधित विभागन मा लाग करमचारिन से काम भर करावैं जानत है, पै मांग पूर नहीं कई पावत तौ आम जनता के मांग कहां से पूर होई। यहै कारन है कि सरकारी करमचारी भी काम मा लापरवाही करत हैं अउर आय दिन आपन मांगन का लइके धरना प्रदर्शन अउर हड़ताल  करत हैं। जइसे कि या समय भी बांदा अउर चित्रकूट जिले मा जल निगम विभाग, बी.एस.नल. विभाग, शिक्षा विभाग अउर बिजली विभाग जइसे कइयौ विभागन के करमचारी आपन आपन मांगन का लइके धरना प्रदर्शन मा उतारू हंै, पै का सरकार का उनके धरना प्रदर्शन अउर हंगामा खड़ा करैं से कउनौ फरक परत है। इं सब समस्यन के मार भी आम जनता का ही झेलै का परत है। काहे से अगर विभागन के करमचारी काम नहीं करत धरना प्रदर्शन अउर हड़ताल मा हैं, तौ भी उंई विभागन से संबंधित काम करावैं खातिर भी आम जनता अउर गरीब किसानन का ही बार बार उंई विभागन के चक्कर लगावैं का परी अउर रोज किराया भाड़ा खर्च करैं का परी। धरना अउर हड़ताल करैं वाले सरकारी करमचारी चार दिन नहीं चाहे दस दिन काम न करैं, पै उनका तौ सरकारी वेतन मिलत है।