विपक्षी सपा नेत्री है, जिसके डर से हमारी कोई मदद नहीं कर रहा

जिला बांदा, शहर  बांदा 19 अगस्त से दिनेश दीक्षित अपने परिवार के साथै क्रमिक अनशन मा बइठ है। वहिके अनशन करै का कारन है कि वहिके घर मा समाजवादी पार्टी के अमिता बाजपेई ताला लगवा दिहिस है। यहिसे दिनेश दीक्षित का आपन परिवार समेत अनशन करै खातिर मजबूर होय का पर गा है।
दिनेश दीक्षित के साले के.जी. ित्रपाठी का कहब है कि मोर बहनोई दिनेश दीक्षित 17 जून का स्वराज लक्ष्मी से जमींन खरीदिस रहै। अब उंई घर बनवा के अपने घर मा रहत रहैं,पै समाजवादी पार्टी के अमिता बाजपेई वा घर मा नहीं रहैं देत है। यहिसे अमिता बाजपेई 12 अगस्त का पुलिस अउर तहसीलदार का बोला के कहिस कि उंई घर के जांच करै चाहत हैं। यहिसे हम लोग दरवाजा खोल दिहिन। थोई देर के बाद लगभग पन्द्रह पुलिस वाले आ गें। उनके सउहें अमिता बाजपेई हम लोगन का पुलिस से कहिके घर से बाहर निकरा के ताला डार दिहिस। 19 अगस्त से क्रमिक अनशन मा बइठे हन। अबै तक कउनौ अधिकारी झांकै नहीं आवा आय।
समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष शमीम बांदवी का कहब है कि वा जमीन ट्रस्ट के आय। हुंआ पुजारी रहत रहैं। हुंआ किरायेदार रहि सकत हैं,पै कउनौ जमीन का बेंच नहीं सकत आय। यहिसे खरीदै के पहिले नींकतान से जमीन के कागज देखै का रहै। मोरे हिसाब से वा जमीन कउनौ के नही आय अउर ना तौ बेंच सकत आय। बांदा एस.पी.राजेन्द्र पाण्डेय का कहब है कि जमीनी मामला आय। जांच कइके मामले का खतम कीन जा सकत है।
रिपोर्टर- मीरा देवी और गीता 
29/08/2016 को प्रकाशित

बाँदा जिले में जमीनी विवाद को लेके दिनेश दीक्षित के परिवार अनशन पर