विधवा बेसहारा का मिलत सहारा

mahila mudda vedva

जिला अम्बेडकर नगर, ब्लाक अकबरपुर से बैरमपुर बरवां। हिंआ एक स्वाधार केन्द्र चलत बाय। जेहमा विधवा बेसहारा तलाक शुदा मेहारारु लड़किन का सहारा दिया जा थै। वही संस्था कै कार्यकर्ता ऊषा मद्धेशिया से बात चीत की। ई ऊ संस्था मा सलाह दिये कै काम करा थिन।
सवाल-स्वाधार केन्द्र कबसे चलत बाय? अउर कइसन मेहरारु यहमा रहाथिन?
जवाब-स्वाधार केन्द्र 2010 से चलत बाय। यहमा अट्ठारह साल से पचास साल उमर कै मेहरारु रहाथिन। यकरे बाद उनका बस्ती वृद्धा आश्रम बना बाय वहमा भेज दिया जाथै।
सवाल-यहि संस्था मा कवन-कवन सुविधा बाय? अउर वका चलावै खातिर पैसा के दिया थै।
जवाब-गरीब मेहरारुन अउर लड़िकियन का फ्री स्वरोजगार प्रशिक्षण जैसे सिलाई-कढ़ाई खिलौना बनावै बैग बनावै ब्यूटी पार्लर कै कोर्स करावा जा थै। तीन सौ रुपया पेंशन के रुप मा दै जा थै। खाना से लइके रहै सोवै तक सब व्यवस्था फ्री बाय। स्वाधार केन्द्र का चलावै खतिर बी.पी. मिश्रा एन.जी.ओ केन्द्र सरकार से पारित करवावा थे। स्वाधार केन्द्र उत्तर-प्रदेश के अड़तालिस जिला मा चलाय जात बाय। हमका ई काम करै मा बहुत अच्छा लागा थै।