विज्ञापन में हावी पुरुषवादी नज़रिया

boss-cook-mainएयरटेल मोबाइल कंपनी ने हाल ही में एक विज्ञापन शुरू किया है। इसको लेकर महिलावादी नजरिया रखने वाले लोगों का कहना है कि विज्ञापन से समाज में एक संदेश जाता है कि औरत भले ही कामकाजी हो लेकिन खाना बनाने की जि़म्मेदारी उसी की है।
इसमें एक औरत को दिखाया गया है। वह कंपनी में बॉस है, उसके नीचे के पद में उसका पति काम करता है। काम ज़्यादा होने के कारण औरत अपने तहत काम करने वाले कर्मचारियों को देर रात तक दफ़्तर में काम करने का आदेश देती है। इसमें उसका पति भी शामिल है। इस बीच वह घर पहुंचती है। पति दफ्तर में काम करता रहता है। अचानक फोन बजता है। वह उठाता है। अब वही पत्नी तरह तरह का खाना बनाकर उसका इंतज़ार कर रही है। वह पति को यह सारे व्यंजन फोन में दिखाकर घर आने को कहती है। इस विज्ञापन में समाज में औरतों के लिए बनी बनाई छवि को और मज़बूत करने की कोशिश की गई है। औरत बॉस हो सकती है लेकिन क्या उसे खाना बनाने में माहिर होना ज़रूरी है। पति यहां भी देर रात काम करता है पर औरत ज़्यादा काम होने पर भी घर आकर खाना बनाती है। इस विज्ञापन में पुरुषवादी नज़रिया साफ नज़र आता है।