विकास के नाम पर मज़ाक, बांदा जिले के विछवाही गांव में

जिला बांदा, ब्लाक तिंदवारी, गांव विछवाही 2014-15 मा या गांव का राममोहर लोहिया समग्र गांव खातिर चुना गा रहै पै गांव के कच्ची रास्ता अउर नाली देखा के पता चलत है कि या गांव मा कउनौ विकास नहीं कीन गा आय। बरसात मा ख़राब रास्ता से निकले मा गांव के मड़ई अउर स्कूली बच्चन का बहुतै परेशानी होत है।जिला बांदा, ब्लाक तिंदवारी, गांव विछवाही 2014-15 मा या गांव का राममोहर लोहिया समग्र गांव खातिर चुना गा रहै पै गांव के कच्ची रास्ता अउर नाली देखा के पता चलत है कि या गांव मा कउनौ विकास नहीं कीन गा आय। बरसात मा ख़राब रास्ता से निकले मा गांव के मड़ई अउर स्कूली बच्चन का बहुतै परेशानी होत है। बी.डी.ओ रजनीश कुमार का कहब है कि छोटे गांवन मा बजट बहुतै कम भेजा जात है यहै कारन नाली अउर रास्ता नहीं बना आय। गांव मा अबै तक  27 लोहिया आवास बनाये गें है। रविन्द्र, अवस्थि, अभिमन्यु सिंह अउर राजकरन समेत कइयौ मड़इन का कहब है कि गांव के विकास खातिर कुछौ कहब बेकार है काहे से गांव का रास्ता बहुतै ख़राब है यहै कारन स्कूली बच्चन का कीचड़ मा घुस के जायें का पड़त है। बरसात मा बच्चन का बहुतै परेशानी होत है। जबै विधायक अउर प्रधान के चुनाव होत है तबहिने नेता आवत हवै अउर विकास का वादा करत है  पै जीते के बाद पलट के नहीं चलत के नहीं देखत आहीं।हमरे गांव मा एकौ शौचालय भी नहीं आहीं। स्कूल जाये वाली दिब्या  अवस्थी बताइस कि मोर जइसे छोट-छोट बच्चन के कीचड़ मा  गोड़ फंस  जात है अउर हमार स्कूल ड्रेस गंदी होइ जात है।

रिपोर्टर- शिवदेवी

Published on Jul 27, 2017