विकास का तरसै गांव

DSC08926जिला चित्रकूट, ब्लाक मऊ, गांव सुरौंधा, महादेव का डेरा। हिंया नाली, रास्ता, बच्चन का पढ़ै खातिर स्कूल अउर बिजली जइसे का कउनौ विकास नहीं आय। या समस्या का पत्रकार भी देखिन हवैं।
महादेव के डेरा मा रहैं वाले छगिया, शिवप्रकाश अउर कमलेश का कहब हवै कि तीन पीढ़ी से गांव बसा हवै। केवट जाति के मड़ई रहत हवैं। हिंया स्कूल नहीं आय। लगभग डेढ़ सौ बच्चा पढ़ै खातिर तीन किलो मीटर दूर सुरौंधा गांव अउर पांच किलो मीटर दूर मऊ जात हवैं। रास्ता नहीं बनी यहै से बच्चा अउर बूढ़ मड़ई गढ़वा मा गिर जात हवैं। बिजली नहीं लाग। यहै से उजियार खातिर तरसत हवैं। इं सब का असर हमरे बच्चन के भविष्य मा परत हवै। दुइ हैण्डपम्प लाग हवैं एक बिगड़ा हवै। एक हैण्डपम्प से लगभग़ सौ घर के मड़ई पानी भरत हवंै। अगर वा हैण्डपम्प भी बिगड़ जात हवै तौ एक किलो मीटर दूर पानी भंरै जाये का परत हवै। प्रधान रामसजीवन कहिस कि एक साल पहिले विकास खातिर लिख के ब्लाक मा दीने हौं। अबै तक सुनवाई नहीं भे आय। मऊ बिजली विभाग के जेई एस.के.मौर्य कहिन कि पांच लोग कनेक्शन करवावैं तबै बिजली लागी। मऊ बी.डी.ओ. श्रीकान्त त्रिपाठी कहिन कि वा डेरा के विकास खातिर कउनौ लिखित दरखास नहीं आई आय।
मऊ एस.डी.एम. अवधेश श्रीवास्तव कहिन कि अगर वा डेरा मा समस्या हवै तौ मड़ई लिखित दें। जांच कइके विकास करवावा जई।