वरिष्ठ महिला पत्रकार गौरी लंकेश की गोली मार कर हत्या

फोटो साभार: फेसबुक/गौरी लंकेश

बेंगलुरु में वरिष्ठ पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश को राज राजेश्वरी नगर स्थित आवास पर अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर उनकी हत्या कर दी है। वह चर्चित कन्नड़ अख़बार लंकेश पत्रिका की संपादक थीं।
गौरी लंकेश, कन्नड़ कवि और पत्रकार पी लंकेश की सबसे बड़ी बेटी थीं। सूत्रों के अनुसार, गौरी पर बेहद नजदीक से हमलावरों ने 7 राउंड फायरिंग की। मौके पर ही गौरी लंकेश की मौत हो गई। उनको पहले भी जान से मारने की धमकियां मिल चुकी थीं।
चश्मदीद गवाहों के अनुसार, 55 साल की गौरी लंकेश को मोटरसाइकल सवार 3 हमलावरों ने रात में 8 बजकर 25 मिनट पर गोली मार दी और वारदात के बाद फरार हो गए। हमले के वक्त गौरी अपने घर का मुख्य गेट खोल रही थीं। फायरिंग के दौरान उनके सिर, गर्दन और सीने पर 3 गोलियां लगीं, जबकि 4 गोलियों के दीवार पर निशान मिले हैं।गवाहों का कहना है कि गौरी अपने दफ्तर से घर लौटी थीं, तभी हमलावरों ने उन्हें निशाना बनाया।
आपको बता दे की गौरी ने हाल ही में केंद्रीय सरकार की योजनाओ की काफी आलोचना की थी, और अब ये सवाल खड़े हो रहे हैं की उनकी हत्या के कारण से इनका क्या जुड़ाव है।