वन कर्मचारियन को धरना

01-10-14 van karmi dharnaमहोबा शहर, डी.एम. कार्यालय। एते 29 सितम्बर 2014 से वन विभाग के दैनिक कर्मचारियन ने शिवपाल की अध्यक्षता में क्रमिक अनशन करो हे। साथे चेतावनी दई हे कि अगर हमाईं मांगंे पूरी न होंहे तो 6 अक्टूबर 2014 से आमरण अनशन करें खा मजबूर हो जेबी।
ब्लाक चरखारी गांव स्वासामाफ के जीतेन्द्र ओर ब्लाक कबरई गांव ढिकवाहा के (यूनियन जिला मं़त्री) निर्भय सिंह ने बताओ कि हम वन विभाग में जंगल रखायें को काम महीना के पूरे तीस दिन बराबर करत हें। जीमें हमाई रात-दिन ड्यूटी लगी रहत हे, ओर 26 दिन की मजदूरी दई जात हे। पनवाड़ी ब्लाक के (प्रदेश अध्यक्ष) चन्द्रपाल यादव बताउत हे 1991 में बने नियम के तहत सब योजना के पात्र आउत हे। काय से पेहले के नियम में हतो कि जोन आदमी तीस दिन ओर तीन साल तक बराबर मजदूरी करहें तो ऊखे सरकारी कर्मचारी बना लओ जेहे। राजेश कुमार यादव ओर महाराज सिंह बताउत हें कि हम कोनऊ आठ साल तो कोनऊ दस साल से वन विभाग में मजदूर के रूप में काम करो हे, अब काम से निकारत हे। कहत हें कि तुम हमाये कर्मचारी नई हो। एई से हमने 9 सितम्बर से 28 सितम्बर 2014 तक डी.एफ.ओ. कार्यालय में क्रमिक अनशन करो हतो, अधिकारी दूसरे गेट से निकर जात हतो। एई से डी.एम. कार्यालय में अनशन करें हें। अगर हमाई मांगे पूरी न हो हे तो आमरण अनशन करबी।