लोहिया गांव के हाल बेहाल

रास्ता में मचो दलदल
रास्ता में मचो दलदल

ई गांव 2012-13 में लोहिया समग्र ग्राम पंचायत भओ हतो। अगर गांव की रास्ता देखी जाय तो ऊखी हालत साधारण गांव से भी ज्यादा खराब हे। रास्ता बनवाये के नाम पे प्रधान बजट न होय को बहाना कर देत हे।
होरीडाणा मोहल्ला के अनिल ओर प्रहलाद ने बताओ कि जा रास्ता 2008 में बनी हती। जोन लगभग दो साल से ऐसी खोद गई हे। जेसे रास्ता नई गड्ढा होय। अगर तनक सो पानी बरस जात हे तो एसे पानी भर जात हे जेसे छोट तालाब। बरसात के समय ई रास्ता से निकरे में इत्तो डर लागत हे कि नये कपड़ा पहन के तो कभऊं निकरतई नइयां। का पता किते बड़ो गड्ढा होय ओर पांव गप जाय। हमाये लाने जा रास्ता गांव से बाहर जाय खा मेन रास्ता हे। जिते रास्ता खराब हे ऊखी लम्बाई साठ से सत्तर मीटर होहे, पे प्रधान कहत हे कि मोये बजट से बाहर हे। एई से में न बनवा पेहों।
प्रधान कौशल बताउत हे कि मोये एते मनरेगा को रूपइया हे। जीमें में पक्को काम नई करा सकत हों। लोहिया गांव में रास्ता बनवाये की जिम्मेदारी पी.डब्लू.डी. विभाग की हती। ऊने जा रास्ता कहें खे बाद भी नई बनवाई आय।